Saturday , November 17 2018

विश्व में ‘न्यू इंडिया-यंग इंडिया’ का उदाहरण बनेगा कुंभ

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को कुंभ-2019 के जरिए विश्व समुदाय के समक्ष नए और उभरते भारत का एजेंडा पेश करने का एलान किया। उन्होंने कहा कि इस कुंभ के माध्यम से स्वच्छता, समरसता और सांस्कृतिक समृद्धि का संदेश देने का फैसला लिया गया है। कुंभ से निकली यही तस्वीर दुनिया के सामने न्यू इंडिया और यंग इंडिया का उदाहरण बनेगी।उन्होंने कहा कि बुनियादी ढांचागत विकास के बाद प्रयागराज की नई पहचान देश ही नहीं, दुनिया के लिए अनुकरणीण और प्रेरणादायी होगी।

करीब पौने दो घंटे विलंब से पुलिस लाइन सभागार पहुंचे सीएम ने अपने दो दिवसीय प्रयाग प्रवास केदौरान कुंभ की तैयारियों की समीक्षा से जुड़े बिंदुओं को एक-एक कर साझा किया। उन्होंने बताया कि 30 नवंबर तक अफसरों को सभी पक्के निर्माण पूरा करने के लिए समय दिया गया है। सीएम ने कहा कि कुंभ में देश -दुनिया से आने वाले श्रद्धालुओं-अतिथियों कुंभ का क्या संदेश होगा, इस पर मंथन किया गया है। यह विश्व का सबसे बडा सांस्कृतिक आयोजन है। इस कुंभ में स्वच्छता, समरसता, भारतीय संस्कृति की समृद्धि संदेश दिया जाऐएगा। उन्होंने बताया कि इस बार के कुंभ में तीर्थयात्रियों को कई ऐतिहासिक, पौराणिक स्थलों को पहली बार देखने का मौका मिलेगा। भारद्वाज आश्रम, वेणी माधव मंदिर के अलावा किले में स्थित अक्षयवट, सरस्वती कूप को भी आम श्रद्धालुओं के लिए खोला जाएगा। झूंसी, नैनी में भी स्वच्छता के साथ विकास के नए अध्याय की शुरुआत होगी। सीएम ने बताया कि पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी ने ‘त्रिवेणी पुष्प’ की शुरुआत की थी। उसे भी भव्यता प्रदान करने की कोशिश की जा रही है।

बुनियादी ढांचा के विकास के बाद प्रयाग की सूरत बदली नजर आएगी। सीएम ने जहां कुंभ के आयोजन को सबका बताया, वहीं सभी वर्ग के लोगों से इस आयोजन जुड़ने की अपील की। साथ ही भरोसा जताया कि देश-दुनिया के अतिथियों-श्रद्धालुओं के स्वागत के लिए संगमनगरी तैयार हो रही है। युद्ध स्तर पर काम हो रहे हैं। उम्मीद है हम एक भव्य और दिव्य कुंभ का आयोजन करने में सफल होंगे। वार्ता के समय नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना और चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह मौजूद

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कुंभ में आतिथ्य सत्कार की तैयारियों की ओर भी इशारा किया। उन्होंने बताया कि देश के छह लाख गांवों से कुंभ में आमंत्रित किए जाने वाले प्रतिनिधियों के लिए रैन-बसेरा बनाया जाएगा। साथ ही 192 देशों के प्रतिनिधियों के लिए भी खास इंतजाम किए जाएंगे। कुंभ के वैभव, सांस्कृति-धार्मिक महत्व से लोगों को परिचित कराने के लिए वैचारिक कुंभ की भी प्रयाग से शुरुआत हो चुकी है। लखनऊ में 22-23 दिसंबर, इलाबाद में 31 जनवरी-2019, 1-2 दिसंबर वाराणसी, 8-9 दिसंबर वृंदावन, और 15-16 नवंबर को अयोध्या में वैचारिक कुंभ के आयोजन होंगे। दो दिनी प्रयाग प्रवास के दौरान कुंभ की परियोजनाओं के स्थलीय निरीक्षण में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का काफिला कई बार बिखरी हुई गिट्टियों वाली सड़क पर हिचकोले खाते हुए गुजरा, लेकिन उन्होंने अफसरों को सौ में सौ नंबर दिए। सीएम ने पुलिस लाइन सभागार में पत्रकारों से कई बार प्रशासन की मेहनत का जिक्र किया। कहा कि अफसर युद्ध स्तर पर लगे हैं। हमें पूरी उम्मीद है कि समय से काम पूरा होगा। उन्होंने सुरक्षा का अनुकरणीय मॉडल पेश करने में जुटे पुलिस अफसरों की भी पीठ थपथपाई।

E-Paper

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com