अमेरिकल टीवी पर्सनेलिटी, लेखिका, एक्‍टर और प्रसिद्ध भारतीय मूल की मॉडल पद्मलक्ष्‍मी ने 16 साल में अपने साथ हुए बलात्‍कार का खुलासा किया है.

 लेखक सलमान रुश्‍दी की पूर्व पत्‍नी पद्मलक्ष्‍मी ने अपने साथ हुई इस पूरी घटना का जिक्र न्यूयॉर्क टाइम्‍स में प्रकाशित अपने एक लेख में किया है. अपने इस लेख में उन्‍होंने अपने साथ हुई इस घटना के साथ यह साफ करने की कोशिश की है कि आखिर महिलाएं क्‍यों सालों तक अपने साथ हुई यौन उत्‍पीड़न की घटनाओं पर चुप्‍पी साधे रखती हैं.अमेरिकल टीवी पर्सनेलिटी, लेखिका, एक्‍टर और प्रसिद्ध भारतीय मूल की मॉडल पद्मलक्ष्‍मी ने 16 साल में अपने साथ हुए बलात्‍कार का खुलासा किया है.

अपने इस लेख में पद्मलक्ष्‍मी ने लिखा, ‘मैं जब 16 साल की थी, तब मैंने एक लड़के को डेट करना शुरू किया था, जिसे मैं लॉस ऐंजलिस के एक मॉल में मिली थी. मैं वहां अपने स्‍कूल के बाद काम किया करती थी.’ उन्‍होंने अपने इस लेख में बताया कि उसने मुझसे फ्लर्ट करना शुरू कर दिया. वह कॉलेज में था और मुझे काफी हैंडसम और चार्मिंग लगता था. वह 23 साल का था.

उन्‍होंने आगे लिखा, ‘हमारे एक दूसरे को डेट करने के कुछ महीने बाद, 31 दिसंबर को उसने मेरे साथ बलात्‍कार किया.’ उन्‍होंने लिखा 31 दिसंबर की शाम को हम लोग नए साल की पार्टी में गए थे. मैं बुरी तरह थक गई थी और उसके अपार्टमेंट में ही सो गई थी.’ पद्मलक्ष्‍मी ने लिखा, ‘आप यह भी जानना चाहते होंगे कि क्‍या उस रात, जब मेरे साथ बलात्‍कार हुआ मैंने शराब पी रखी थी या नहीं. हालांकि इसका कोई मतलब नहीं है, लेकिन फिर भी साफ कर दूं कि मैंने शराब नहीं पी रखी थी. आप यह भी जानना चाहते होंगे कि मैंने क्‍या पहना था.. हालांकि यह भी कोई मायने नहीं रखता, लेकिन बता दूं कि मैंने लंबी बाजू वाली एक काली ड्रेस पहन रखी थी और उसमें से सिर्फ मेरे कंधे नजर आ रहे थे.

पद्मलक्ष्‍मी ने लिखा, ‘मुझे सिर्फ इतना याद है कि जब मैं उठी तो मेरे पैरों के बीच ऐसा दर्द हो रहा था जैसे किसी ने धारदार चाकू से वार किया हो. वह मेरे ऊपर था. मैंने पूछा, ‘तुम ये क्‍या कर रहे हो?’, उसने कहा, ‘सिर्फ थोड़ी देर दर्द होगा.’ मैं चिल्‍लाई, ‘प्‍लीज, ये मत करो…’ दर्द बढ़ता जा रहा था और वह नहीं रुका. मेरे आंसू मेरा दर्द बयां कर रहे थे…’ उन्‍होंने लिखा, ‘मैंने ये किसी को नहीं बताया. न अपनी मां को, न अपने दोस्‍तों को और न ही पुलिस को. शुरुआत में मैं काफी सदमे में थी. उस शाम मैंने इसे अपनी मां को बताया और फिर सोने चली गई यह सोचकर कि मैं वो रात भूल जायूंगी. लेकिन फिर धीर-धीरे मुझे लगने लगा कि वह मेरी ही गलती थी.

पद्म लक्ष्‍मी ने आगे लिखा कि उन्‍होंने यह बात किसी को इसलिए नहीं बताई थी, क्‍योंकि 1980 में डेट रेप जैसी कोई चीज या कानून नहीं था. डेट रेप का मतलब कि आपके साथ उस व्‍यक्ति ने रेप किया है जिसे आप पहचानती हों. उन्‍हें लगा कि अगर वह रेप की बात कहतीं तो लोग पूछते कि उस रात वह उस लड़के के अपार्टमेंट में क्‍या करने गई थीं.

दरअसल यह पूरा मामला अमेरिका के सुप्रीम कोर्ट में बतौर जज ब्रेट कावॉना की नियुक्ति से जुड़ा है. उनपर दो महिलाओं ने यौन शोषण का अरोप लगाया था. इस मामले पर अमेरिका के राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने ब्रेट का समर्थन किया है. ट्रंप ने ब्रेट के समर्थन में कहा कि यौन उत्‍पीड़न का अरोप लगाने वाली डॉक्‍टर यौन हमले को लेकर अब तक खामोश क्‍यों थीं.

Related Articles

Back to top button
E-Paper