एंटीलिया केस : उलझी गुत्थी,’मिस्ट्री वुमन’ के बाद जांच में एक और मर्सिडीज की एंट्री

मुंबई। मुकेश अंबानी के घर के बाहर मिली विस्फोटक वाली कार और कारोबारी मनसुख हिरेन की हत्या के मामले में गिरफ्तार किए गए पुलिस अधिकारी सचिन वाझे की गुत्थी और उलझती जा रही है। मिस्ट्री वुमन के बाद अब एंटीलिया केस में एक और मर्सिडीज की एंट्री हो गई है और शुक्रवार को इस मामले की जांच कर रही एनआईए की टीम दफ्तर पर सफेद रंग की एक मर्सिडीज कार को भी लाई। माना जा रहा है कि मर्सिडीज का लाया जाना इस जांच का ही हिस्सा है। बताया जाता  है कि शुक्रवार को एनआईए दफ्तर पर सफेद रंग की एक मर्सिडीज कार को भी लाया गया। हालांकि, यह गाड़ी किसकी और इसका इस केस से क्या संबंध में, इसे लेकर अभी तक कोई विस्तृत जानकारी सामने नहीं आई है। मगर ऐसा माना जा रहा है कि एंटीलिया केस की जांच में यह एक अहम कड़ी साबित हो सकता है। बता दें कि सचिन वाझे और उसकी सहयोगी मिस्ट्री वुमन एनआईए की हिरासत में है।

इससे एक दिन पहले गुरुवार को एनआईए यानी नेशनल इन्वेस्टिगेटिंग एजेंसी ने गुरुवार शाम को उस महिला को हिरासत में ले लिया, जो 16 फरवरी को साउथ मुंबई स्थित एक फाइव स्टार होटल में सचिन वाझे के साथ दिखी थी। दरअसल, एनआईए मुकेश अंबानी के घर के पास से बरामद एसयूवी और मनसुख हिरन की मौत के मामले में गुरुवार को दक्षिण मुम्बई के एक होटल और एक क्लब की तलाशी ली। इसके अलावा, एजेंसी ने ठाणे के एक फ्लैट में भी तलाशी अभियान चलाया, जहां से उस महिला को हिरासत में लिया गया। बताया जाता है कि यह महिला मुख्य आरोपी सचिन वाजे की करीबी सहयोगी है, जिसे हिरासत में ले लिया गया है।खबरों के मुताबिक, एनआईए ने गुरुवार की शाम को जिस महिला को हिरासत में लिया, वह वही है जो होटल में सचिन वाझे के साथ दिखी थी। हिरासत में लेने से पहले उससे पूछताछ भी की गई है। एनआईए के अधिकारियों ने कहा कि महिला, सचिन वाझे के काले धन को सफेद करने के लिए काम कर रही थी। उसने दो आईडी का उपयोग करके ऐसा किया और उसके पास नोट गिनने की मशीन थी, जो पिछले महीने वाझे की मर्सिडीज कार में मिली थी।दरअससल, 16 फरवरी को जब सचिन वाझे दक्षिण मुंबई के एक फाइव स्टार होटल में देखे गए थे, तो उनके साथ एक महिला थी और पांच बड़े बैग थे। मिस्ट्री वुमन की जानकारी अब तक तो सामने नहीं आई थी, हालांकि, उन बैगों को लेकर कहा गया कि उनमें कैश थे। एनआईए के सूत्रों ने यह कन्फर्म किया था कि घटना वाले दिन सचिन वाझे पैसों से भरे पांच बैग लेकर जा रहे थे।इसके अलावा, नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) की जांच में खुलासा हुआ है कि वाझे कथित वसूली रैकेट को नरीमन पॉइंट स्थित एक फाइव स्टार होटल से चला रहा था। यहां उसके लिए एक बिजनेसमैन ने 12 लाख में एक रूम 100 दिनों के लिए बुक किया था। रिपोर्ट के मुताबिक, वाझे ने होटल में कमरा फेक आईडी पर लिया था। जांच एजेंसी एंटीलिया बम केस और मनसुख हिरेन की हत्या केस में वाझे की भूमिका की जांच कर रही है। सस्पेंड किए जा चुके वाझे के अलावा एजंसी ने कई और पुलिसकर्मियों से पूछताछ की है। एनआईए अधिकारियों ने बताया कि इनमें से कुछ और लोगों को गिरफ्तार किया जा सकता है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper