एजुकेशन फॉर आंत्रप्रन्योरशिप (ईफॉरई) को रफ्तार देने के लिए सिडबी ने दिल्ली स्किल एंड आंत्रप्रन्योरशिप युनिवर्सिटी के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए

1 जून, 2022: भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक (सिडबी) ने “मिशन स्वावलंबन” के अंतर्गत दिल्ली स्किल एंड आंत्रप्रन्योरशिप युनिवर्सिटी (डीएसईयू) के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं। इसका उद्देश्य कौशल-प्राप्त युवाओं को उद्यमिता की शिक्षा तथा तत्संबंधी अन्य पहलकदमियों को बढ़ावा देना है। सिडबी और डीएसईयू की इस साझेदारी के माध्यम से आकांक्षी युवाओं में उद्यमिता के गुण विकसित करके उनमें करियर के रूप में उद्यम लगाने की प्रवृत्ति विकसित की जाएगी। इसके अंतर्गत डीएसईयू विशिष्ट पाठ्यक्रम विकसित करेगा और सिडबी के साथ मिलकर अनेक प्रकार की ऐसी पहलकदमियाँ करेगा, जिनसे आकांक्षी युवा उद्यमिता के बुनियादी गुण सीखकर अपने स्वयं के सूक्ष्म उद्यम लगा पाएँगे। इस समझौता-ज्ञापन पर डीएसईयू के दिल्ली परिसर में 31 मई 2022 को हस्ताक्षर किए गए। इस कार्यक्रम में जहाँ एक ओर सिडबी की ओर से उद्यमिता संवर्द्धन का अनुभव, क्रेडिट कनेक्ट और उद्यमियों के पारितंत्र की सुविधा उपलब्ध करायी जाएगी, वहीं डीएसईयू द्वारा कौशल-प्राप्त तथा आकांक्षी युवाओं की आवश्यकतानुरूप उद्यमिता पाठ्यक्रम चलाए जाएंगे, ताकि वे बाज़ार की माँग के अनुरूप उद्यम स्थापित कर सकें। डीएसईयू द्वारा उद्यमियों को अपने उद्यम लगाने तथा उन्हें आगे ले जाने के लिए मार्गदर्शन और मेंटरशिप की सहायता प्रदान की जाएगी।
सिडबी के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक श्री सिवसुब्रमणियन रमण ने इस अवसर पर कहा, “हम सार्वकालिक सुदृढ़ उद्यमी राष्ट्र बनने की ओर अग्रसर हैं। राष्‍ट्र के उद्यम पारितन्‍त्र तंत्र को और अधिक मजबूत करने की दृष्टि से सिडबी का इरादा शैक्षणिक / विशेषज्ञता-प्राप्‍त संस्थानों / विश्वविद्यालयों के साथ मिलकर ऐसे उद्यमिता पाठ्यक्रम चलाने का है, जिनसे रोजगार पैदा करने में मदद मिलेगी। इस तरह के सहयोग का मुख्‍य उद्देश्‍य युवाओं के सपनों को उद्यम में बदलना होगा। इस प्रकार के सुव्‍यवस्थित प्रयासों से उद्यमिता संस्कृति को बढ़ावा मिलेगा। हम समझते हैं कि इस तरह के केंद्रित पाठ्यक्रम में भाग लेने से, उद्यमी बनने की इच्छा रखने वाले कौशल प्राप्‍त व्यक्तियों को उद्यम स्थापित करने के लिए व्यावहारिक अनुभव प्राप्त होगा।” सिडबी के मुख्‍य महाप्रबंधक डॉ आर.के. सिंह ने समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर करते हुए एमएसएमई के लिए सिडबी की प्रतिबद्धता और हर घर में एक उद्यमी पैदा करने के विजन को दोहराया।
दिल्ली स्किल एंड आंत्रप्रन्योरशिप युनिवर्सिटी की कुलपति प्रो. निहारिका वोहरा ने सिडबी के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर करने पर प्रसन्‍नता व्यक्त की। उन्‍होंने कहा कि “सिडबी के साथ इस साझेदारी से उद्यमिता पारितंत्र में नवोन्‍मेषीता के बहुत-से आयाम स्‍थापित होंगे। हम युवा उद्यमियों, विशेष रूप से महिला उद्यमियों को शहर में व्यवसाय करने को सुविधाजनक बनाने के लिए सिडबी के सहयोग से प्रक्रियाओं और प्रणालियों को तैयार करने के लिए प्रयासरत हैं। हमारा उद्देश्‍य मानसिकता में बदलाव लाना और उत्‍प्रेरकों का विकास करना है, न कि केवल बीज निधि (सीड फंड) की मदद प्रदान करना।

Related Articles

Back to top button
E-Paper