एमपी में भाजपा विधायक नीलम मिश्रा ने पार्टी से दिया इस्तीफा, मंत्री और सांसद पर लगाए आरोप

मध्यप्रदेश में जनता किसके सिर पर ताज सजाएगी इसके लिए कुछ दिनों बाद ही चुनाव होने वाले हैं। जिसमें सभी प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला हो जाएगा। वहीं राज्य में राजनीतिक सरगर्मी तेज हो गई है। इसी बीच रीवा जिले की सेमरिया सीट की विधायक नीलम मिश्रा ने भाजपा से इस्तीफा दे दिया है। वह टिकट कटने से नाराज थीं। उनके पति अभय मिश्रा पहले ही कांग्रेस में शामिल हो चुके हैं। ऐसे में पहले से ही कयास लगाए जा रहे थे कि वह भी भाजपा को छोड़कर कांग्रेस का दामन थाम सकती हैं।

भाजपा ने जब उन्हें सेमरिया सीट से टिकट नहीं दिया तो उन्होंने पार्टी छोड़ने का निर्णय ले लिया। रीवा में प्रेस कांफ्रेंस करके उन्होंने उद्योग मंत्री राजेंद्र शुक्ल और सासंद जनार्दन मिश्रा पर गंभीर आरोप लगाए हैं। नीलम मिश्रा ने भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह को पत्र लिखकर इस बात की जानकारी दी है। उनका कहना है कि वह किसी भी दल में शामिल न होकर अपने पति और कांग्रेस प्रत्याशी अभय मिश्रा के लिए प्रचार करेंगी।

नीलम मिश्रा ने राज्य के मंत्री और सांसद पर आरोप लगाते हुए कहा कि इन दोनों की वजह से उनके विधानसभा क्षेत्र में विकास कार्य नहीं हो पाए हैं। दोनों नेताओं ने विधायक निधि के कोई और कार्य विधानसभा क्षेत्र में होने नहीं दिए। उन्होंने आरोप लगाया कि मंत्री के गलत कार्यों का जब पति अभय मिश्रा ने विरोध किया तो उन्हें प्रताड़ित किया गया। इसके बाद भी हमारी पार्टी के प्रति नाराजगी नहीं रही।

विधायक ने कहा कि जहां पार्टी के लोग ही आपका विरोध कर रहे हैं तो वहां रहने का फायदा क्या है। इसी कारण मैंने भाजपा से इस्तीफा दे दिया है। भाजपा में पांच साल मैंने अपमानित होकर बिताए। मेरे पति को भी जब भाजपा में सम्मान नहीं मिला तो उन्होंने वह कांग्रेस में शामिल हो गए। हाल ही में कांग्रेस ने अभय मिश्रा को रीवा से टिकट दिया है। उनका मुकाबला राज्य के उद्योग मंत्री राजेंद्र शुक्ल से है। 

Related Articles

Back to top button
E-Paper