किसानों, पिछड़ों में असंतोष, मौजूदा विधायक से ऱोष और सपा का जोश निघासन में भाजपा के लिए मुसीबत

लखीमपुर, 20 फरवरी

बीते साल अक्टूबर में किसानों के नरसंहार के चलते देश भर में चर्चा में आए लखीमपुर के निघासन में सत्तारुढ़ भाजपा के लिए विधानसभा चुनावों में यह मुद्दा तो भारी पड़ ही रहा है साथ ही पिछड़ों में व्याप्त असंतोष और मौजूदा विधायक को लेकर गुस्सा भी आग में घी का काम कर रहा है। मतदान से ठीक पहले किसान नरसंहार मामले के मुख्य आरोपी, स्थानीय सांसद व केंद्रीयय गृह राज्य मंत्री टेनी के बेटे आशीष मिश्रा का जमानत पर बाहर आना बड़ी नाराजगी का कारण बन गया है।

रविवार को समाजवादी पार्टी प्रत्याशी आर.एस कुशवाहा के लिए जनसभा को संबोधित करने निघासन पहुंचे पूर्व कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने पिछड़ों की अनदेखी के साथ उनके आरक्षण कोटे में खिलवाड़ का आरोप लगाते हुए जनता से भाजपा सरकार को उखाड़ फेंकने की अपील की। निघासन में इन चुनावों में हुयी अब तक की सबसे बड़ी जनसभा को देख उत्साहित मौर्य ने कहा कि भाजपा की सरकार में इस कदर पिछड़ों, दलितों, किसानों, नौजवानों के हक पर लात मारी गयी है कि सबके सब इसे हटाने के लिए लामबंद हो गए हैं। मौर्य ने कहा कि भाजपा की सरकार में पिछड़ों को वाजिब आरक्षण नहीं दिया गया और नौकरियों से उनको वंचित रखा गया। उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव के नेतृत्व में बनने वाली सपा सरकार में मुफ्त बिजली, पढ़ाई, दवाई के साथ ही रोजगार की भी व्यवस्था होगी। पूर्व कैबिनेट मंत्री ने कहा कि 75 लाख नौकरी देने का वादा किया था पर हुआ यह कि प्रदेश के बोरजगार नौजवानों को योगी सरकार में पुलिस की लाठियां खानीं पड़ीं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में छोटा व्यापारी भुखमरी की कगार पर पहुंच गया है। किसानों के नाम पर सरकार में आए और उनकी खेती को पूंजीपतियों को सौंपने की साजिश के तहत काला कानून ले आए। इतना ही नहीं किसानों को गाड़ियों के तले कुचला भी गया।

भाजपा पर हमला बोलते हुए स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि इनका दावा है कि ये राम को लाए हैं। जो इस दुनिया में सबको लाएं उन राम को ये लाने का दावा कर वोट मांग रहे हैं। काशी विश्वनाथ और राम सदियों से थे, हैं और रहेंगे पर भाजपा इन सबको लाने बनाने का दावा करते हुए वोट मांग रही है।

जनसभा को संबोधित करते हुए ड़ा०संजय चौहान राष्ट्रीय अध्यक्ष जनवादी पार्टी ने कहां उत्तर प्रदेश को इस सरकार ने बेचने और छलने के आलावा कुछ नहीं किया चौहान समाज को कोई सम्मान नहीं दिया गया।और अपमानित करने का काम किया हैं।एक दलित लड़की के साथ अत्याचार हुआ व उसकी लाश को पुलिस द्वारा रात में ही जलवाने का काम किया गया।सरकारी संपत्ति का नीजीकरण कर पूंजीपतियों को फायदा पहुंचाने का काम किया गया,और कर भी रहे हैं।अब प्रदेश की जनता इन जुमले बाजों को पहचान चुकी और अपनी आशा भरी निगाहों से पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की तरफ देखते हुए,ईवीएम मशीन में साइकिल का बटन दबाकर योगी सरकार पर बुलडोजर चलाने का काम कर रही हैं।

समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी पूर्व विधायक आर एस कुशवाहा ने कहा समाजवादी पार्टी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अपने कार्यकाल में डायल हंड्रेड,एंबुलेंस,नौजवानों को सरकारी नौकरी,महिलाओं को सम्मान देने आदि हजारों काम जनहित में किये गये।सपा सरकार की कथनी-करनी में कोई अंतर नहीं हैं।सरकार बनने पर सभी को तीने सौ यूनिट बिजली मुफ्त दी जायेगी।तथा किसानों को खेतों की सिंचाई के लिए पांच सालों तक मुक्त बिजली मिलेगी।गरीबों को पांच सालों तक मुक्त राशन दिया जायेगा।पुरानी पेंशन व्यवस्था बहाल की जायेगी।शिक्षा व रोजगार पर विषेश ध्यान दिया जायेगा।लेपटाप योजना, महिलाओं व पुरुषों की पेंशन व्यवस्था में इजाफा किया जायेगा।व बेरोजगारी भत्ता, समाजवादी पेंशन व्यवस्था फिर से चालू की जायेगी।किसानों को यूरिया,खाद व डीएपी भी फसलों के अनुसार मुफ्त दिया जायेगा।तथा यूरिया,खाद व डीएपी की किल्लत दूर की जायेगी।गन्ना किसानों को समय से भुगतान दिया जायेगा। सभी संविदा कर्मियों को सरकारी नौकरी में शामिल किया जायेगा। गांवों में सड़कों का जाल बिछाया जायेगा।

गौरतलब है कि तराई क्षेत्र में किसान आंदोलन का केंद्र लखीमपुर का निघासन रहा है और नरसंहार के बाद से यहां लोगों में रोष है। भारतीय किसान यूनियन के पदाधिकारियों ने भी यहां कई बार दौरा कर किसानों से भाजपा सरकार को सबक सिखाने की बात कही है। रविवार को सपा नेता स्वामी प्रसाद मौर्य की सभा में बड़ी तादाद में तराई क्षेत्र के किसान पहुंचे थे। भाजपा के मौजूदा विधायक शशांक वर्मा को लेकर भी जनता में नाराजगी है और पिछड़ों में भी जबरदस्त नाराजगी के स्वर सुनाई दे रहे हैं।   

Related Articles

Back to top button
E-Paper