कैसरबाग में 50 धार्मिक स्थलों पर पूर्णरुप से नहीं लागू लाउडस्पीकर नियम

लखनऊ। लखनऊ के हिन्दू मुस्लिम बहुल्य इलाके कैसरबाग में 50 से ज्यादा धार्मिक स्थलों की मौजूदगी है, जिसमें 30 से ज्यादा मस्जिदें हैं। धार्मिक स्थलों पर बीते दिनों कैसरबाग थाने की पुलिस ने कार्यवाही पर लाउडस्पीकर उतरवाया था, लेकिन अभी भी यहां लाउडस्पीकर के नियम पूर्णरुप से लागू नहीं है।

कैसरबाग क्षेत्र के मॉडल हाऊस में एक इबादतगाह पर लाउडस्पीकर बजाने पर वहां के स्थानीय लोगों ने आपत्ति जताते हुए पुलिस को सूचना दी। इसके बाद बावजूद कोई कार्यवाही नहीं होने पर लोगों ने सोशल मीडिया पर उक्त जानकारी को साझा कर रहे हैं। शहर के अन्य हिस्सों में भी लाउडस्पीकर बजने की फोटो और उस पर टिप्पणियां इसके बाद सामने आयी।

अतिरिक्त पुलिस निरीक्षक सुधाकर सिंह ने बताया कि बीते दिनों धार्मिक स्थलों से लाउडस्पीकर उतारने की कार्यवाही की गयी है। मॉडल हाऊस क्षेत्र में भी कार्यवाही की गयी थी। हो सकता है कि लाउडस्पीकर की आवाज को धीमा कराया गया होगा, बाद में वहां आवाज बढ़ा दी जा रही होगी। इसमें लाउडस्पीकर उतरवाने पर ही कोई स्पष्ट कार्य हो पायेगा।

कैसरबाग को पुरातत्व के दृष्टि से अतिमहत्वपूर्ण क्षेत्र माना जाता है, यहां नवाबों के वक्त से मिश्रित आबादी रहती रही है। कैसरबाग में बड़ी सब्जी मंडी, बस अड्डा और छोटी बड़ी कॉलोनियां हैं। इस क्षेत्र में दवा के कारोबारी, मीट का कारोबार करने वाले लोग भी पाये जाते हैं। इन्हीं सब के बीच धार्मिक स्थलों की भी भरमार है। जहां के लाउडस्पीकर से कुछ आवाज होती है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper