गंभीरता से करें कांटेक्ट ट्रेसिंग का कार्यः मंडलायुक्त

कोविड- 19, संचारी रोगों की रोकथाम हेतु आयोजित बैठक को संबोधित करते मंडलायुक्त

मास्क न लगाने पर 10901 व्यक्तियों के काटे चालान

मैनपुरी। आयुक्त आगरा मंडल आगरा अनिल कुमार ने कोविड- 19, संचारी रोगों की रोकथाम हेतु आयोजित बैठक की समीक्षा के दौरान कहा कि शहरी, ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ विभाग की रैपिड रिस्पांस टीम द्वारा कंटेनमेंट जोन में घर-घर भ्रमण कर कांटेक्ट ट्रेसिंग का कार्य कराया जाए। हॉट-स्पॉट जोन में कोरोना प्रोटोकाॅल का कड़ाई से पालन सुनिश्चित हो ताकि संक्रमण का खतरा कम किया जा सके।

पॉजिटिव मरीजों के संपर्क में आने वाले सिम्टोमेटिक व्यक्तियों की तत्काल, असिम्टोेमेटिक लोगों की चार-पांच दिन के उपरांत सैंपलिंग कराई जाए। मास्क का प्रयोग न करने वालों से जुर्माना वसूला जाए। शहरी क्षेत्र में अधिशासी अधिकारी स्वयं सफाई कार्य का स्थलीय निरीक्षण करें। गांव में विशेष सफाई अभियान चलाकर सफाई करायी जाए।

आयुक्त आगरा मंडल आगरा अनिल कुमार ने कहा कि पॉजिटिव पाए गए मरीजों की कांटेक्ट ट्रेसिंग का कार्य पूरी गंभीरता से किया जाए ताकि संक्रमण से ग्रसित लोगों का जल्द से जल्द चिन्हित कर संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। उन्होंने समीक्षा के दौरान पाया कि अब तक जनपद में 672 पॉजिटिव मरीजों के सापेक्ष 6315 कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग करते हुए सैंपलिंग करायी गई। जिसके आधार पर प्रति पॉजिटिव केस औसतन 9.4 प्रतिशत कांटेक्ट ट्रेस किए गए है।

अब तक 25226 व्यक्तियों की सेंपलिंग कराई गई है जिसमें से आरटी.पी.सी.आर. विधि से 22440, एंटीजन किट विधि से 1933, टूॅनाट विधि से 810 व्यक्तियों की सैंपलिंग कराई गई है। उन्होंने कहा कि प्रतिदिन एंटीजन किट से कम से कम 500 लोगों की जांच की जाए। दवा व्यवसायियों, दुकानदारों, व्यापारियों, हथठेले वालों, सरकारी कार्मिकों की भी रेंडमतौर पर सैंपलिंग कराकर जांच कराई जाए।

उन्होंने समीक्षा के दौरान पाया कि जनपद में मात्र दो मेडिकल मोबाइल टीमों द्वारा चिकित्सीय परीक्षण किया जा रहा है। अब तक 714 कैंपों का आयोजन कर 4278 सैंपल एकत्र किए गए हैं। साथ ही 10940 रोगियों की स्क्रीनिंग कर स्वास्थ्य परीक्षण भी किया गया है। इस पर उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि मोबाइल मेडिकल टीमों की संख्या बढ़ाई जाए। जनपद में 15 रैपिड रिस्पांस टीमों द्वारा प्रत्येक व्यक्ति की 28 दिनों तक निगरानी करते हुए ऑनलाइन ट्रैसिंग, डाटा फीड किया जा रहा है। अब तक टीमों द्वारा 26538 व्यक्तियों का डाटा ट्रैक किया जा रहा है।

जिसमें से 4295 व्यक्तियों के 28 दिन पूर्ण होने के बाद केस को बंद किया गया है। कोविड-19 के संक्रमण को रोकने हेतु शहरी क्षेत्र में पांच रैपिड रिस्पांस टीमों एवं ग्रामीण क्षेत्रों में 10 रैपिड रिस्पांस टीमों द्वारा लगातार इंफ्रारेड थर्मोमीटर एवं पल्स ऑक्सीमीटर से सभी संदिग्ध व्यक्तियों की नियमित रूप से स्क्रीनिंग की जा रही है। स्वास्थ्य विभाग, अन्य विभागों के सहयोग से 1974 टीमों द्वारा कुल 102323 घरों के सर्वेक्षण कार्य में कुल 495756 व्यक्तियों की स्क्रींिनंग की गई, जिसमें से 2512 आई.एल.आई., एस.ए.आर.आई. के मरीज पाए गए, इन सभी व्यक्तियों की सैंपलिंग भी कराई जा चुकी है।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि अब तक 10901 व्यक्तियों के मास्क न लगाने पर चालान कर उनसे 22 लाख, 43 हजार 250 रूपये का जुर्माना वसूला गया है,। जबकि एपीडेमिक एक्ट के प्राविधानों के अंतर्गत 441 वाहनों के चालान कर एक लाख, 12 हजार 500 रूप्ये की धनराशि वसूली गई।

आयुक्त आगरा मंडल आगरा में कलेक्ट्रेट में स्थापित एकीकृत कोविड कमाण्ड एंड कंट्रोल सेंटर का औचक निरीक्षण भी किया। बैठक में जिलाधिकारी महेंद्र बहादुर सिंह, पुलिस अधीक्षक अजय कुमार पांडेय, मुख्य विकास अधिकारी ईशा प्रिया, संयुक्त विकास आयुक्त अशोक बाबू मिश्र, नोडल अधिकारी ईश्वरचंद, अपर निदेशक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, उप निदेशक सांख्यिकी नवीन चतुर्वेदी, अपर जिला अधिकारी बी.राम, अपर पुलिस अधीक्षक मधुबन कुमार सिंह, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. ए.के. पांडेय सहित अन्य संबंधित अधिकारी आदि उपस्थित रहे।

Related Articles

Back to top button
E-Paper