गुजरात हादसा : अस्पताल के बाहर मृतकों के परिजनों का हंगामा, पुलिस से झड़प, संचालक हिरासत में

अहमदाबाद। महानगर के नवरंगपुरा इलाके में कोविड-19 नामित श्रेय अस्पताल में हुए अग्निकांड में पांच पुरुष और तीन महिलाओं सहित आठ मरीजों की मौत हुई है। प्लास्टिक से बनी पीपीई किट पहने कर्मचारी भी बुरी तरह से झुलसे हैं। घटना के बाद अस्पताल के बाहर मृतकों के परिजन हंगामा कर रहे हैं। परिजनों और पुलिस के बीच झड़पें भी हो रही हैं। पुलिस ने अस्पताल के संचालक भारत महंत को हिरासत में लिया है।

अतिरिक्त मुख्य अग्निशमन अधिकारी राजेश भट्ट ने बताया कि दमकल विभाग को आधी रात को 3:30 बजे आग लगने के बारे में सूचना मिली। इस पर लगभग 35 अग्निशामक और 15 वाहन के साथ घटनास्थल पर पहुंचे और आग बुझाई। दमकल कर्मियों के सहयोग से अस्पताल के 41 मरीजों को सुरक्षित निकालकर एसवीपी अस्पताल में स्थानांतरित किया गया। पूरा अस्पताल को खाली कराकर सील कर दिया गया है। देर रात मरीजों को अन्य अस्पताल में स्थानांतरित करते समय कोविड मरीजों के संपर्क में आए 35 दमकलकर्मियों ने स्वयं को आइसोलेट कर लिया है।

अस्पताल में आग लगने की वजह शॉर्ट सर्किट बताई जा रही है। बहरहाल, दमकल विभाग आग लगने के कारणों की जांच कर रहा है। स्वास्थ्य सचिव जयंती रवि भी मौके पर पहुंची हैं। उन्होंने कहा कि पूरी घटना की निष्पक्ष जांच की जाएगी। सीएम विजय रूपाणी ने अहमदाबाद के श्रेय अस्पताल में आग लगने की घटना की जांच के आदेश दिए हैं। गृह विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव संगीता सिंह जांच का नेतृत्व करेंगी। मुख्यमंत्री ने 3 दिनों के भीतर जांच रिपोर्ट मांगी है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper