चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में यूनियन बैंक का शुद्ध और परिचालन लाभ बढ़ा

लखनऊ, 29 जुलाई, सार्वजनिक क्षेत्र के प्रमुख बैंक यूनियन बैंक आफ इंडिया ने गुरुवार को जून में समाप्त वित्तीय वर्ष 2021-22 की पहली तिमाही के नतीजे घोषित किए हैं। वित्तीय वर्ष की पहली तिमाही में यूनियन बैंक को साल दर साल के आधार पर शुद्ध लाभ में 254.93 फीसदी और परिचालन लाभ में 31.45 फीसदी का सुधार हुआ है। इसी दौरान बैंक के शुद्ध ब्याज आय में 9.53 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गयी है।
गुरुवार को वर्चुअल प्रेस कांफ्रेंस के जरिए चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही के नतीजों का एलान करते हुए यूनियन बैंक के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी राजकिरन राय जी ने बताया कि इस दौरान बैंक के चालू एवं बचत खातों (कासा) की जमाराशियों में 11.23 फीसदी की बढ़ोत्तरी हुयी है। वित्तीय वर्ष 2022 की पहली तिमाही के अंत तक बैंक के पास कुल जमाराशि आधार 908528 करोड़ रुपये है। बैंक के कासा अनुपात में साल दर साल आधार पर 33.30 फीसदी से 36.39 फीसदी का सुधार हुआ है।
यूनियन बैंक ने वित्तीय वर्ष 2022 की पहली तिमाही में एनपीए में भी कमी लाने में सफलता हासिल की है। साथ ही पूंजी पर्याप्तता अनुपात में भी सुधार हुआ है।
प्रबंध निदेशक ने बताया कि इस वित्त वर्ष की पहली तिमाही के दौरान बैंक ने प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना के तहत 0.96 लाख नामांकन किए गए हैं जबकि इसी अवधि में प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना में 1.45 लाख नए लोगों को जोड़ा गया है। श्री राजकिरन राय जी ने बताया कि यूनियन बैंक ने कोविड-19 से निपटने के लिए अनेक मुख्य योजनाओं की शुरुआत की है। इसमें पीएम स्वनिधि के तहत 287 करोड़ रुपये के ऋण मंजूर किए गए हैं और यूनियन गारंटीकृत इमरजेंसी क्रेडिट लाइन (यूजीईसीएल) में 10007 करोड़ रुपये के ऋण मंजूर किए गए हैं।

Related Articles

Back to top button
E-Paper