जलशक्ति मंत्री ने नमामि गंगे और ग्रामीण जलापूर्ति विभाग के गोमतीनगर कार्यालय का किया औचक निरीक्षण

  • कर्मचारियों की कार्यशैली को परखने के साथ जलशक्ति मंत्री ने हर घर नल योजना की प्रगति की जानकारी ली
  • जल शक्ति मंत्री ने अधिकारियों को हर घर नल योजना के लाभान्वितों की सूची तैयार करने के दिए निर्देश
  • कार्यालय में रखे उपस्थिति रजिस्टर, भुगतान रजिस्टर और डाक डिस्पैच रजिस्टर आदि भी देखे
  • अधिकारियों से ग्रामीण क्षेत्रों के लाभान्वित गांवों का निरंतर सर्वे और समीक्षा करते रहने के निर्दश दिये

लखनऊ। प्रदेश सरकार के जलशक्ति मंत्री स्वतंत्र देव सिंह ने बुधवार को गोमती नगर स्थित नमामि गंगे और ग्रामीण जलापूर्ति विभाग के कार्यालय का औचक निरीक्षण किया। इस मौके पर उन्होंने सरकार की ओर से संचालित हर घर नल जल योजना की जानकारी ली। साथ ही कार्यालय के कर्मचारियों का हालचाल भी पूछा। निरीक्षण के दौरान विभाग के प्रमुख सचिव व मिशन निदेशक अनुराग श्रीवास्तव, अधिशाषी निदेशक अखण्ड प्रताप सिंह समेत अन्य अधिकारी मौजूद रहे। उन्होंने अधिकारियों से हर घर नल योजना का लाभ समाज के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाने के लिए भी कहा।

केन्द्र व प्रदेश सरकार की ओर से संचालित ग्रामीण नल-जल योजना का संचालन बखूबी तरीके से किया जा रहा है। इसके लिए प्रदेश सरकार तत्परता दिखा रही है। ताकि लोगों को तय समय के भीतर स्वच्छ पेयजल मुहैया कराया जा सके। इसी क्रम में प्रदेश सरकार के जलशक्ति मंत्री स्वतंत्र देव सिंह कोई कोर-कसर बाकी नहीं रखना चाहते हैं। वे बुधवार को विभाग के कार्यालय का औचक निरीक्षण करने पहुंचे। इस दौरान वे कार्यालय के फाइनेंस टीम, टेक्रीकल टीम, एचआर टीम, आईएसए टीम, लीगल टीम के कर्मचारियों से रू-ब-रू हुए। मौके पर उन्होंने हर घर नल जल योजना की प्रगति भी जानी। कार्यालय के प्रत्येक विभाग के कर्मचारियों से मिले और उनकी कार्य-शैली को समझा।

जलशक्ति मंत्री स्वतंत्र देव सिंह ने उपस्थिति रजिस्टर, भुगतान रिजस्टर और डाक डिस्पैच रजिस्टर आदि की भी जांच की। कार्यालय में कर्मचारियों की 95 फीसदी उपस्थिति पर उन्होंने संतोष जताया। उन्होंने संबंधित विभाग के अधिकारियों को किसी भी तरह के बिल के भुगतान में देर न किए जाने के निर्देश दिए। मंत्री ने हर घर नल जल योजना के लाभान्वितों की सूची तैयार कराने के निर्देश संबंधित विभाग के अधिाकरियों को दिए। उन्होंने कर्मचारियों को कुशलता व प्रतिबद्धता के साथ कार्य करने को कहा। इसके साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों के लाभान्वित गांवों के निरंतर सर्वे और समीक्षा करते रहने के निर्देश दिए। कार्यालय में आवश्यक सुविधाओं का भी उन्होंने जायजा लिया।

Related Articles

Back to top button
E-Paper