वाराणसी: ज्ञानवापी मस्जिद में लगातार तीसरे दिन सर्वे, सुरक्षा का व्यापक प्रबंध

सर्वे आज पूरा हो जाएगा, कल 17 मई को रिपोर्ट न्यायालय में होगा दाखिल

वाराणसी। ज्ञानवापी श्रृंगार गौरी मामले में न्यायालय के निर्देश पर लगातार तीसरे और अन्तिम दिन सोमवार को भी कड़ी सुरक्षा के बीच मस्जिद परिसर में सर्वे की कार्यवाही चल रही है। अधिवक्ता कमिश्नर के साथ वादी-प्रतिवादी पक्ष के कुल 52 सदस्यों की मौजूदगी में परिसर में सर्वे हो रहा है। दोपहर 12 बजे तक शेष 20 फीसदी बचे कार्यो की वीडियोग्राफी और फोटो ग्राफी होनी है।

माना जा रहा है कि सर्वे टीम और उच्चाधिकारी आपस में विमर्श के बाद परिसर में मौजूद तालाब का पानी निकालकर उसकी भी वीडियोग्राफी करा सकते है। इसके बाद वीडियोग्राफी की चिप कोर्ट कमिश्नर को सौंप दी जाएगी।

मंगलवार 17 मई को कमीशन की कार्यवाही की रिपोर्ट कोर्ट कमिश्नर को न्यायालय में दाखिल करना है। इसके पहले रविवार को मस्जिद व गुंबद के बाद तहखाने के भी कुछ हिस्सों की फोटो और वीडियोग्राफी हुई थी। इसमें गुंबद के हिस्से में अलग बनावट नजर आई। चर्चा है कि मस्जिद परिसर के गुंबदों की बनावट जैसी बाहर से नजर आती है भीतर से काफी अलग है। इसके पहले सर्वे टीम चौक थाने से कड़ी सुरक्षा के बीच ज्ञानवापी मस्जिद के लिए रवाना हुई। मस्जिद परिसर में प्रवेश के पूर्व सभी सदस्यों के मोबाइल फोन जमा करा लिया गया। सर्वे के चलते लगातार तीसरे दिन ज्ञानवापी मस्जिद से लगभग एक किलोमीटर की दूरी तक मार्ग प्रतिबंधित है। काशी विश्वनाथ मंदिर के गेट नंबर चार के दोनों तरफ करीब 500 मीटर पहले ही बैरिकेडिंग लगी हुई है। किसी भी वाहन को गोदौलिया-मैदागिन मार्ग पर नहीं जाने दिया जा रहा है। काशी विश्वनाथ मंदिर में आने वाले दर्शनार्थियों को गलियों के रास्ते काशी विश्वनाथ मंदिर में प्रवेश कराया जा रहा है। ज्ञानवापी के एक किलोमीटर तक जगह-जगह पुलिस और पीएसी के जवान मुस्तैद है। पुलिस अफसरों के अनुसार ज्ञानवापी की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। पहले दिन सुरक्षा 10 लेयर की थी । दूसरे दिन रविवार को 12 लेयर की कर दी गई। तीसरे और अन्तिम दिन 16 लेयर की सुरक्षा व्यवस्था की गई है।

वाराणसी पुलिस कमिश्नर ए सतीश गणेश ने मीडिया कर्मियों को बताया कि न्यायालय के आदेश पर कोर्ट कमिश्नर की मौजूदगी में ज्ञानवापी मस्जिद का सर्वे हो रहा है। आज बुध पूर्णिमा पर काशी विश्वनाथ मंदिर में भक्तों की भारी भीड़ को देख सुरक्षा की पर्याप्त व्यवस्था की गई है। उन्होंने बताया कि पूरे शहर को सुरक्षा कारणों से सेक्टर और जोन में बांटा गया है। शहर के लिए हमने राजपत्रित अधिकारी की ड्यूटी लगाई है, और जोन के लिए पुलिस अधीक्षक को जिम्मेदारी सौंपी गई है।

न्यायालय से नियुक्त विशेष अधिवक्ता कमिश्नर विशाल सिंह ने बताया कि, कमीशन की कार्यवाही का आज आखिरी दिन है। सर्वे आज पूरा हो जाएगा। सर्वे अपने नियत समय सुबह 8 से दोपहर 12 बजे तक होगा। सर्वे में क्या क्या जांच हुई, ये सारी बातें गोपनीय हैं। कोर्ट के आदेशानुसार जिला प्रशासन ने पूरा सहयोग किया है। फ्लड लाइट, सफाईकर्मी, ड्राफ्ट मैन जितनी भी सहायता मांगी गई। जिलाधिकारी ने सभी कुछ उपलब्ध कराया। आज जितने भी कार्य सर्वे के दौरान बचे हैं। सभी पूरे हो जाएंगे और 17 मई को कोर्ट में इसकी रिपोर्ट प्रस्तुत की जाएगी। उधर, ज्ञानवापी विवाद मामले में आज सोमवार को ही इलाहाबाद हाईकोर्ट में भी सुनवाई है। एक विवाद से जुड़ी 3-3 याचिकाएं दाखिल हैं। कुल 6 याचिकाओं पर सुनवाई होनी है।

बाबा विश्वनाथ के दरबार में उमड़े श्रद्धालु

सोमवार का दिन और बुद्ध पूर्णिमा पर्व के चलते श्री काशी विश्वनाथ के स्वर्णिम दरबार में दर्शन पूजन और जलाभिषेक के लिए श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी है। बुद्ध पूर्णिमा पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु गंगा स्नान के बाद दरबार में पहुंच रहे है। उनकी सुरक्षा के लिए गंगा में एनडीआरएफ और जल पुलिस तैनात हैं। मंदिर में आने वाले श्रद्धालुओं को गेट नंबर एक और गंगा द्वार से मंदिर में प्रवेश कराया जा रहा है। पर्व पर दरबार में दर्शन पूजन के लिए श्रद्धालुओं की लंबी कतार लगी है। ज्ञानवापी मस्जिद में सर्वे के चलते सुरक्षा कारणों से मंदिर का गेट नंबर चार बंद है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper