प्रधानमंत्री मोदी ने की बनारस से मिशन यूपी की शुरुआत, योगी की तारीफ की

लखनऊ
बनारस में कई परियोजनाओं के उद्घाटन-शिलान्यास के बहाने यूपी के सियासी समर का बिगुल फूंक दिया गया है। उत्तर प्रदेश में अगले साल शुरुआत में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज से भाजपा के चुनावी अभियान का मानों श्रीगणेश कर दिया है।
पीएम मोदी गुरुवार को वाराणसी में 1500 करोड़ रुपए की योजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण करने पहुंचे। यहां उन्होंने योगी सरकार की जमकर तारीफ की और योगी सरकार के कोरोना संक्रमण को रोकने के कदमों की जबरदस्त तारीफ की और इसे अभूतपूर्व बताया। इसके साथ ही पीएम मोदी ने भाई-भतीजावाद और अपराध पर लगाम लगाने के लिए योगी की पीठ भी थपथपाई।
पीएम मोदी ने संबोधित करते हुए कहा कि, देश का सबसे बड़ा प्रदेश जिसकी आबादी दुनिया के दर्जनों बड़े-बड़े देशों से भी ज्यादा हो, वहां कोरोना की दूसरी लहर को जिस तरह यूपी ने संभाला, कोरोना संक्रमण को फैलने से रोका वो अभूतपूर्व है।
उन्होंने कहा कि आज उत्तर प्रदेश में गांवों के स्वास्थ्य केंद्र हों, मेडिकल कॉलेज हों, एम्स हो, मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर में अभूतपूर्व सुधार हो रहा है। मालूम हो यूपी में अप्रैल-मई में कोरोना की दूसरी लहर के दौरान बड़ी संख्या में शव गंगा नदी में उतराते नजर आए थे। इसे लेकर योगी सरकार को कई बार सफाई तक देनी पड़ी है।
मोदी ने आगे कहा, “अभी यूपी में करीब 550 ऑक्सीजन प्लांट्स बनाने का काम तेजी से चल रहा है। आज बनारस में 14 ऑक्सीजन प्लांट्स यहां लोकार्पण भी किया गया है। जिन बीमारियों के इलाज के लिए कभी दिल्ली और मुंबई जाना पड़ता था, उनका इलाज आज काशी में भी उपलब्ध है।”
इतना ही नहीं मोदी विरोधी दलों पर भी हमलावर रहे। समाजवादी पार्टी की सरकार को घेरते हुए उन्होंने कहा, “ऐसा नहीं है कि पहले यूपी के लिए योजनाएं नहीं आती थीं। पैसा नहीं भेजा जाता था। दिल्ली से पहले भी ऐसे ही प्रयास होते थे] लेकिन तब उनमें यूपी सरकार से ही रोड़ा लग जाता था। काशी के लोग खुद ही देखते हैं कि योगीजी कितना वाराणसी आते हैं और एक-एक योजना को खुद देखते हैं। ये हर काम के साथ खुद लगते हैं। इसलिए यूपी में बदलाव के ये प्रयास आज आधुनिक यूपी बनाने में तेजी से आगे बढ़ रहे हैं।”
यूपी में कानून-व्यवस्था को लेकर भी पीएम ने सीएम योगी की तारीफ की। उन्होंने कहा- “आज यूपी में कानून का राज है और माफिया राज, आतंक राज जो कभी बेकाबू हो रहे थे, उन पर अब कानून का शिकंजा है। बहनों-बेटियों की सुरक्षा को लेकर मां-बाप जैसे चिंता में रहते थे, वो स्थिति भी बदली है। आज बहन-बेटियों पर आंख उठाने वालों को पता है कि वे कानून से बच नहीं पाएंगे।”

Related Articles

Back to top button
E-Paper