फिर यूपी में टूटा कोरोना के नए मरीजों का रिकॉर्ड, एक दिन में सामने आए इतने नए केस

लखनऊ। प्रदेश में बीच बीते चौबीस घंटे में कोरोना के रिकार्ड 5,898 नए मामले सामने आए हैं। इसके साथ ही सक्रिय मामलों की संख्या 51,317 हो गई है। वहीं अब तक 1,48,562 लोग इलाज के बाद पूरी तरह ठीक होने के बाद घर भेजे जा चुके हैं। इसके साथ ही राज्य में अब तक 3,141 लोगों की इस संक्रमण से मौत हो चुकी है।

प्रदेश के अपर मुख्य सचिव-चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बुधवार को बताया कि राज्य की विभिन्न प्रयोगशालाओं में मंगलवार को कुल 1,44,802 कोरोना नमूनों की जांच की गई। इसके साथ ही राज्य में अब तक कुल 49,41,679 कोरोना नमूनों की जांच हो चुकी है।

9.71 करोड़ लोगों के बीच पहुंची स्वास्थ्य टीमें

स्वास्थ्य विभाग की टीमें लगातार विभिन्न क्षेत्रों में लोगों के बीच पहुंचकर सर्वेश्रण कर रही हैं। अभी तक विभिन्न इलाकों में 2,82,756 टीमों ने 1,93,20,725 करोड़ घरों का सर्वेक्षण किया है। इसके तहत 9,71,70,306 लोगों की मेडिकल स्क्रीनिंग की गई है।

01 जून से 25 अगस्त तक की गई 40,217 मेजर सर्जरी

अपर मुख्य सचिव-चिकित्सा एवं स्वास्थ्य ने बताया कि राज्य में कोविड केयर के साथ नॉन कोविड केयर पर भी पूरी तरह ध्यान दिया जा रहा है। प्रदेश में बीते वर्ष 01 जून से 25 अगस्त तक सरकारी अस्पतालों में जहां 50,118 मेजर सर्जरी की गई। वहीं कोरोना संक्रमण काल के बावजूद इस वर्ष इसी समयावधि में 40,217 मेजर सर्जरी की गई।

25,279 लोग होम आइसोलेशन में करा रहे इलाज

उन्होंने बताया कि प्रदेश में वर्तमान में कुल संक्रमित मरीजों में से 25,279 लोग होम आइसोलेशन यानि घर पर रहकर इलाज की सुविधा का लाभ ले रहे हैं। अब तक 83,575 लोग होम आइसोलेशन में अपना इलाज करा चुके हैं। इनमें 58,296 लोगों के इलाज का समय पूरा होने पर उन्हें डिस्चार्ज घोषित कर दिया गया है। वहीं 2,341 लोग निजी अस्पतालों, 250 मरीज होटल में एल-1 प्लस की सेमिपेड फैसिलिटी और शेष राज्य सरकार की एल-1, एल-2 व एल-3 की व्यवस्था के तहत विभिन्न सरकारी अस्पतालों में भर्ती हैं।

ई-संजीवनी पोर्टल से अब तक 44,097 लोगों ने उठाया लाभ

इसके साथ ही ई-संजीवनी पोर्टल का प्रदेश के लोग लगातार इस्तमाल कर रहे हैं, इस पोर्टल से घर बैठे डॉक्टरों से सलाह ले सकते हैं। मंगलवार को 2,145 लोगों ने इस सुविधा का लाभ उठाया। वहीं अब तक प्रदेश के 44,097 लोगों को इससे लाभ मिला है।

प्रदेश में 62,796 कोविड हेल्प डेस्क स्थापित

प्रदेश में कुल 62,796 ‘कोविड हेल्प डेस्क’ की स्थापना की जा चुकी है। इनके जरिए लगभग साढ़े छह लाख लक्षणात्मक लोगों की पहचान की गई। इनमें ऑक्सीमीटर और थर्मामीटर उपलब्ध हैं। इन सभी इकाइयों में सैनिटाइजर की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित की गई है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper