सीएम योगी ने राष्ट्रपति व राज्यपाल को भेंट की टेराकोटा की मूर्तियां

महामहिम के हाथों में खूब इतराया गोरखपुर का टेराकोटा शिल्प

महामहिम के सपरिवार अवलोकन को सर्किट हाउस में लगा टेराकोटा शिल्प का स्टाल

और मजबूत हुई ओडीओपी में शामिल टेराकोटा की ब्रांडिंग

गोरखपुर: एक जिला एक उत्पाद योजना में शामिल गोरखपुर के टेराकोटा माटी शिल्प की ब्रांडिंग रविवार को और मजबूत हुई। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार सुबह सर्किट हाउस पहुंचकर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रदेश की राज्यपाल श्रीमती आनंदी बेन पटेल को टेराकोटा शिल्प से बनीं भगवान श्री गणेश की मूर्तियां भेंट की। महामहिम के हाथों में गोरखपुर का टेराकोटा खूब इतराया। महामहिम भी इस माटी शिल्प के मुरीद नजर आए। इसके साथ ही सर्किट हाउस में राष्ट्रपति के सपरिवार अवलोकन के लिए टेराकोटा शिल्प का स्टाल लगाया गया।

टेराकोटा गोरखपुर की खास व पारंपरिक पहचान है। मुख्यमंत्री बनने के बाद इसे ओडीओपी में शामिल कर योगी आदित्यनाथ ने इसे उद्यमिता और रोजगार का बड़ा फलक प्रदान किया है। योगी सरकार के प्रयासों से यह अब ग्लोबल ब्रांड के रूप में स्थापित हो रहा है। इसकी ब्रांडिंग उस वक्त और मजबूत होती दिखी जब राष्ट्रपति के गोरखपुर आगमन पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सर्किट हाउस में इसे उपहार स्वरूप उन्हें भेंट किया। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के साथ ही सीएम योगी ने राज्यपाल श्रीमती आनंदी बेन पटेल को भी टेराकोटा शिल्प से गढ़ी भगवान गणेश की मूर्ति भेंट की। महामहिम इस भेंट से बेहद प्रफुल्लित नजर आए।

राष्ट्रपति की सुपुत्री व स्टाफ ने किया टेराकोटा स्टाल का अवलोकन
सर्किट हाउस में सीएम योगी के निर्देश पर टेराकोटा शिल्प का स्टाल लगाए गया। शिल्पकारराममिलन प्रजापति, अखिलेश प्रजापति और हीरालाल प्रजापति द्वारा सामूहिक रूप से लगाए स्टाल का अवलोकन राष्ट्रपति की सुपुत्री स्वाति कोविंद व राष्ट्रपति के स्टाफ ने किया। इस दौरान उन्होंने शिल्पकारों से बातचीत कर टेराकोटा के बनने की प्रक्रिया और इसकी खूबियों के बारे में जानकारी हासिल की। वह इन इन उत्पादों की खूबसूरती और कलात्मकता से इतनी प्रभावित हुईं की उन्होंने 16 उत्पाद खरीद लिए। शिल्पकारों ने उन्हें अपनी तरफ से टेराकोटा शिल्प से बने गणेश भगवान की मूर्ति भेंट की। राष्ट्रपति के स्टाफ के सदस्यों ने भी टेराकोटा उत्पादों की खरीदारी की।

शिल्पकारों के लिए कभी न भूलने वाला पल
सर्किट हाउस में स्टाल लगाने वाले शिल्पकारों ने कहा कि यह उनके लिए कभी भी न भूलने वाला पल है। टेराकोटा शिल्पकार राममिलन प्रजापति ने कहा कि राष्ट्रपति की बेटी और उनके स्टाफ को हमारी कला बहुत पसंद आई। उनसे बात करने का मौका मिलना और उन तक अपनी कला पहुंचाना अविस्मरणीय है। यह अवसर दिलाने का श्रेय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को जाता है। अखिलेश प्रजापति और हीरालाल ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हमारी कला को ओडीओपी में शामिल कर बढ़ावा नहीं दिया होता तो यह शिल्प दम तोड़ चुका होता। आज उनके द्वारा दिए गए प्रोत्साहन से टेराकोटा की धाक देश-दुनिया में जम रही है। यह उन्हीं की देन है कि हमारे द्वारा तैयार टेराकोटा उत्पाद राष्ट्रपति व राज्यपाल कें हाथों तक पहुंच गोरखपुर की माटी की खुशबू बिखेर रहे हैं। राष्ट्रपति जी की बेटी ने भी न केवल हमारे उत्पाद खरीदे बल्कि खूब सराहना भी की।

Related Articles

Back to top button
E-Paper