1 नवंबर से बदल जाएगा रसोई गैस की डिलीवरी का नियम, अभी जान लें वरना नहीं मिलेगा सिलेंडर

नई दिल्ली। पूरे देश में एक नवंबर से एक बड़ा नियम बदलने वाला है। यह नियम रसोई गैस की होम डिलीवरी से जुड़ा हुआ है। इस नियम की जानकारी के बिना आप रसोई गैस प्राप्‍त नहीं कर पाएंगे। दरअसल सिलेंडर की कालाबाजारी को देखते हुए सरकार ने ऐसी व्‍यवस्‍था की है, जिसके बाद सिलेंडर की डिलीवरी का नियम पूरी तरह से बदल जाएगा।

रसोई गैस की होम डिलीवरी

दरअसल सिलेंडर की होम डिलीवरी को लेकर अब सरकारी तेल एजेंसियों ने तय किया है कि एक नवंबर से देश के 100 स्‍मार्ट सिटी में रसोई गैस की होम डिलीवरी के लिए वन टाइम पासवर्ड सिस्‍टम लागे होगा। इस व्‍यवस्‍‍था के माध्‍यम से सरकार का लक्ष्य यह है कि गैस सिलेंडर सही उपभोक्ता तक पहुंचे।

अब 1 नवंबर से जब सिलेंडर लेकर डिलीवरी ब्वॉय आपके घर आएगा, तब आपको उसे वन टाइम पासवर्ड बताना होगा। बता दें कि यह कदम सिलेंडर से चोरी होने वाली गैस, सिलेंडर चोरी रोकने और सही कस्टमर की पहचान के लिए लागू किया जा रहा है। इस नियम के तहत जैसे ही आप सिलेंडर बुक करेंगे, आपके मोबाइल पर एक ओटीपी प्राप्त होगा।

इसके बाद जब डिलीवरी ब्वॉय आपके घर पर गैस सिलेंडर पहुंचाने आएंगे तो उन्हें ओटीपी बताना होगा। ओटीपी साझा किए बगैर एलपीजी सिलेंडर डिलीवर नहीं हो पाएगा। फिलहाल जयपुर और तमिलनाडु के कोयंबटूर में इस व्यवस्था को पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर लागू किया गया है।

वहीं अब इस व्‍यवस्‍था को नवंबर 2020 से देश के 100 स्मार्ट शहरों में लागू किया जा रहा है। इन शहरों से मिलने वाले फीडबैक के आधार पर व्यवस्था का विस्तार देशभर में किया जाएगा। ऐसे में अगर आपका घर 100 स्मार्ट सिटी में है और आपका मोबाइल नंबर गैस एजेंसी के पास रजिस्टर नहीं है या फिर नंबर बदल गया है तो तुरंत नंबर अपडेट करवा लें।

जानकारी के मुताबिक, डिलीवरी ब्वॉय को एक ऐप की सुविधा दी जाएगी। डिलिवरी के वक्त आप उस ऐप की मदद से भी अपना मोबाइल नंबर डिलीवरी ब्वॉय को अपडेट करा सकते हैं।

Related Articles

Back to top button
E-Paper