Chanakya Niti : जीवन में इन कामों को करने से मिलता है सक्सेज, जानिए चाणक्य नीति

Chanakya Niti

चाणक्य नीति (Chanakya Niti) के अनुसार श्रेष्ठ और सफल व्यक्ति वही है जो सुख और दुख में कभी धैर्य को नहीं खोता। समय कभी एक जैसा नहीं रहता है यह बदलता रहता है। इसलिए जीवन में जब दुख आए तो हताश और निराश नहीं होना चाहिए। चाणक्य नीति कहती है कि धन की देवी लक्ष्मी उसी व्यक्ति को अपना आर्शीवाद देती हैं, जो अच्छे गुणों को अपनाता है। अच्छे गुणों से युक्त व्यक्ति को जीवन में कभी धन की कमी नहीं रहती है।

सोमवार से पौष मासिक शिवरात्री व्रत, राशि के अनुसार करें शिव मंत्रों का जाप और दान

गीता का उपदेश

गीता के उपदेश में भगवान श्रीकृष्ण अर्जुन को बताते है कि जो व्यक्ति कर्मशील होता है उसके जीवन में सुख, समृद्धि और शांत हमेशा बनी रहती है। आज के दौर में हर व्यक्ति की इच्छा धनवान बनने की है। धन से सभी प्रकार के कष्टों को दूर करने में मदद मिलती है। क्योंकि भौतिक जीवन में धन एक प्रमुख साधन है,धन आने पर सुख सुविधाओं में वृद्धि होती है। धन की कमी जीवन में न रहे, इसके लिए इन बातों को हमेशा ध्यान में रखना चाहिए-

कठोर परिश्रम से प्रसन्न होती हैं लक्ष्मी जी | Chanakya Niti

मान्यता है कि जो लोग आलस से दूर रहते हैं और लक्ष्य को पाने के लिए कठोर परिश्रम करते हैं, उनसे लक्ष्मी जी प्रसन्न रहती है और अपना आर्शीवाद प्रदान करती हैं। इसलिए कठोर परिश्रम करने से कभी नहीं घबराना चाहिए। जो लोग परिश्रम करने से बचते हैं, उन्हें लक्ष्मी जी का आर्शीवाद कभी प्राप्त नहीं होता है।

जानिए कौन हैं ‘ओम जय जगदीश हरे’ आरती के रचयिता? 150 साल पहले 1870 में की थी रचना

लालच कभी न करें | Chanakya Niti

लक्ष्मी जी उन लोगों को कभी अपना आर्शीवाद नहीं देती हैं जो लालच से घिरे रहते हैं। ऐसे लोगों का साथ लक्ष्मी जी बहुत जल्द छोड़ देती हैं। धर्मग्रंथों में लालच को एक बुरी आदत माना गया है। लालची व्यक्ति कभी प्रसन्न नहीं रहता है, हमेशा दूसरों की प्रगति से जलता रहता है। इसलिए इस आदत से हमेशा दूर रहें।

जरूरतमंदों की मदद करो | Chanakya Niti

चाणक्य नीति कहती है कि धन से संपंन व्यक्ति को लोक कल्याण के कार्यों में रूचि लेनी चाहिए। जो लोग धन से पूर्ण होने के बाद जरूरतमंदों की मदद नहीं करते हैं और धन को अपने सुखों के लिए प्रयोग करते हैं, ऐसे लोगों को साथ लक्ष्मी जी बहुत जल्द छोड़ देती हैं। धन से पूर्ण व्यक्ति को लोगों की मदद के लिए सदैव तैयार रहना चाहिए।

Related Articles

Back to top button
E-Paper