विधानसभा चुनाव से पहले ही पश्चिम बंगाल पहुंची अर्धसैनिक बलों की 12 कंपनियां

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव की सुगबुगाहट तेज हो गई है। अगले सप्ताह चुनाव की तारीखों की घोषणा होने की अटकलों के बीच शनिवार को ही पश्चिम बंगाल में सेंट्रल फोर्स की टुकड़ी पहुंच गई है। राज्य चुनाव आयोग के सूत्रों ने बताया है कि जम्मू कश्मीर से 12 कंपनी केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) विशेष ट्रेन से पश्चिम बंगाल के दुर्गापुर पहुंची है। इनकी तैनाती राजधानी कोलकाता समेत राज्य के अन्य हिस्सों में की जानी है।

पश्चिम बंगाल

सूत्रों ने बताया है कि 25 फरवरी तक राज्य में 125 कंपनी केंद्रीय बलों की तैनाती हो जाएगी। आदर्श आचार संहिता लागू होने से पहले ही पश्चिम बंगाल में सेंट्रल फोर्स के जवानों के आने के बाद राज्य में सरगर्मी तेज हो गई है।

20 फरवरी 1987 को ही अरुणाचल, मिजोरम को मिला था राज्‍य का दर्जा, राष्‍ट्रपति ने दी बधाई

केंद्रीय गृह मंत्रालय के सूत्रों ने बताया है कि इन 12 कंपनी केंद्रीय बलों में से तीन कंपनियों की तैनाती बिधाननगर, बारूईपुर, डायमंड हार्बर में होगी। उसके बाद बाकी नौ कंपनियों की तैनाती उत्तर 24 परगना के बैरकपुर, हावड़ा, पश्चिम मेदिनीपुर, पूर्व मेदिनीपुर, बांकुड़ा, बीरभूम, पूर्व बर्दवान सहित राज्य के अन्य हिस्सों में लगाया जाएगा।

चुनाव की तारीखों की घोषणा होने से पहले ही केंद्रीय बलों के जवानों को बंगाल में तैनात किए जाने को लेकर आयोग सूत्रों ने बताया है कि एरिया डोमिनेशन और रूट मार्च के लिए इन जवानों की तैनाती की जाएगी। चुनावी हिंसा के लिए कुख्यात रहे हैं पश्चिम बंगाल में सेंट्रल फोर्स के जवानों की मौजूदगी की वजह से लोगों में विश्वास बहाली हो सकेगी।

Related Articles

Back to top button
E-Paper