यूपी के 18 शहरों को मिला देश का प्रतिष्ठित पुरस्कार, सीएम योगी ने जनता को दी बधाई

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने स्वच्छ सर्वेक्षण-2021 में उत्तर प्रदेश के 18 शहरों को देश के प्रतिष्ठित पुरस्कारों से सम्मानित किए जाने पर राज्य की जनता को बधाई दी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में संचालित स्वच्छता अभियान के फलस्वरूप साफ-सफाई के सम्बन्ध में उत्तर प्रदेश सहित देश में व्यापक स्तर पर जनजागरूकता सृजित हुई है। स्वच्छता सम्बन्धी जागरूकता ने वैश्विक महामारी कोविड-19 को नियंत्रित करने में प्रमुख भूमिका निभायी है। प्रदेश सरकार स्वच्छ भारत मिशन का प्रभावी क्रियान्वयन सुनिश्चित करा रही है।

ज्ञातव्य है कि केन्द्रीय आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय द्वारा आज नई दिल्ली में आयोजित ‘स्वच्छ अमृत महोत्सव-2021’ में प्रदेश के 18 नगरों को सम्मानित किया गया। इसके तहत वाराणसी को ‘नम्बर वन बेस्ट गंगा टाउन’ का पुरस्कार प्रदान किया गया। वाराणसी को यह पुरस्कार 01 लाख से अधिक आबादी वाले नगरों की श्रेणी में दिया गया। 01 लाख की आबादी वाले शहरों की श्रेणी में कन्नौज को नम्बर वन बेस्ट गंगा टाउन का पुरस्कार मिला। प्रदेश की राजधानी लखनऊ को ‘बेस्ट स्टेट कैपिटल इन सिटीजन फीडबैक’ का पुरस्कार दिया गया। मेरठ को 10 लाख से 40 लाख तक की आबादी वाले शहरों की श्रेणी में ‘फास्टेस्ट मूवर बिग सिटी’ तथा इसी श्रेणी में गाजियाबाद को ‘बेस्ट बिग सिटी इनोवेशन एण्ड बेस्ट प्रैक्टिसेज’ पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

सीएम योगी के निर्देशों के बाद उत्तर प्रदेश में तेजी से हो रहा टीकाकरण

नोएडा को 03 लाख से 10 लाख तक के आबादी के शहरों की श्रेणी में ‘इण्डियाज क्लीनेस्ट मीडियम सिटी’ का पुरस्कार मिला। इसी तरह हापुड़ शहर को 01 लाख से अधिक आबादी वाले शहरों की रेणी में ‘बेस्ट सिटी इन मैक्सीमम सिटीजन्स पार्टीसीपेशन’ पुरस्कार से सम्मानित किया गया। पटियाली को 01 लाख से कम आबादी वाले शहरों की श्रेणी में ‘बेस्ट सिटी इन मैक्सीमम सिटीजन्स पार्टीसीपेशन’ पुरस्कार से सम्मानित किया गया। हसनपुर शहर को 50 हजार से 01 लाख की श्रेणी में ‘फास्टेस्ट मूवर सिटी’ पुरस्कार से सम्मानित किया गया। आवागढ़ शहर को 25 हजार आबादी वाले शहरों की श्रेणी में एवं गजरौला को 50 हजार से 01 लाख की श्रेणी में ‘बेस्ट सिटी इन सिटीजन फीडबैक’ पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

इसी के साथ मेरठ कैण्ट को 01 लाख की आबादी वाले शहर की श्रेणी में ‘इण्डियाज क्लीनेस्ट कैण्टोनमेण्ट’ के पुरस्कार से सम्मानित किया गया। साथ ही वाराणसी कैण्ट को लाख से अधिक आबादी वाले शहर की श्रेणी में ‘बेस्ट कैण्टोनमेण्ट इन सिटीजन फीडबैक’ के पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

इसी तरह गार्बेज फ्री सिटी शहरों की श्रेणी में प्रदेश के 05 शहरों को स्टार रेटिंग का पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। इसमें 10 लाख की आबादी से अधिक शहरों की श्रेणी में लखनऊ एवं गाजियाबाद को, 01 लाख से 10 लाख की आबादी वाले शहरों की श्रेणी में नोएडा, अलीगढ़ एवं झाँसी को स्टार रेटिंग का पुरस्कार मिला। ज्ञातव्य है कि प्रदेश में विगत स्वच्छ सर्वेक्षण-2020 में 7वीं रैंक हासिल की थी। इसमें प्रगति करते हुए वर्तमान सर्वेक्षण-2021 में प्रदेश की रैकिंग 6वें स्थान पर रही।

Related Articles

Back to top button
E-Paper