Bahraich News In One Click | एक क्लिक में पढ़ें बहराइच जिले की हर बड़ी खबर

Bahraich News

बैंगलोर में कामगार युवक की सड़क हादसे में मौत, परिवार में कोहराम | Bahraich News

नवाबगंज, बहराइच (Bahraich News)। बंगलौर में काम करने गए एक युवक की सड़क हादसे में मौत हो गई। इसकी खबर फोन पर मिलते ही घर में कोहराम मच गया। परिजन शव के अंतिम दर्शन का इंतजार कर रहे हैं।

मालूम हो कि नवाबगंज थाना क्षेत्र के सतीजोर गांव निवासी मोहित  खान 28 वर्ष  पुत्र अब्बास खान कर्नाटक के बंगलौर शहर में जूस की दुकान पर काम करता है। इस छोटी सी कमाई से मिले धन को अपने परिवार के जीविकोपार्जन पर खर्च करता है। गांव व आसपास काम न मिलने के कारण काफी संख्या में लोग दूसरे शहरों में मेनत मजदूरी कर परिवार की जीविका चलाते हैं। कोविड 19 की बंदी खुलने के बाद वह अपने साथियों के साथ काम करने गया था।

रविवार की सुबह साथियों ने फोन पर सूचना दी कि मोहित पिकअप पर फल लादकर जा रहा था। पीछे से एक ट्रक ने उसको ठोकर मार दी। जिससे मोहीत खां की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। मौत की खबर सुनकर नवाबगंज थाना क्षेत्र के सतीजोरगांव में उसके परिजनों और गांव के लोग सदमे में हैं। सभी की निगाहे मृतक के शव के आने का इंतजार कर रही हैं।

विकास खंड दो, बीडीओ एक, कैसे बढे विकास का पहिया | Bahraich News

मिहीपुरवा, बहराइच (Bahraich News) तराई के इस जिले में विकास की जिम्मेदारी संभाल रहे अधिकारियों पर ही बोझ है। जिले के अति पिछडे दो विकास खंड में विकास की जिम्मेदारी एक खंड विकास अधिकारी पर ही निर्भर है। सीमा से लगे इन विकास खंडों के ग्रामीण इलाकों का सर्वांगीण विकास कैसे होगा ? इस सवाल उठना लाजमी है।

बहराइच जिले के विकास खंड नबाबगंज और मिहीपुरवा नेपाल सीमा से लगते हैं। दोनों विकास खंड विकास की दृष्टि से काफी पिछडे माने जाते है। सरकार का सपना ही नही पूरा जोर गांवों के विकास की ओर है। इन विकास खंड में विकास के साथ रोजगार के रुप में मनरेगा के अंर्तगत काम दिलाना प्राथमिकता पर होनी चाहिए जिससे इस क्षेत्र के लोग पलायन न करने पायें।

कल से शुरू होगी आमजनों के लिए लोकल ट्रेन, नियम तोड़ने पर मिलेगी सजा

वहीं युवा वर्ग गलत रास्ते का इस्तेमाल धन कमाने के लिए न करने पाये। लेकिन यहां कुछ उलट है। दोनों ही विकास खंड में विकास की जिम्मेदारी एक खंड विकास अधिकारी के कंधों पर ही है। विकास विभाग के उच्चाधिकारी अभी तक इन विकास खंडों में विकास का पहिया तेज करने के लिए दूसरे खंड विकास अधिकारी की तलाश कर तैनाती कर पाये हैं। जिससे इन विकास खंड के ग्रामों के संर्वांगीण विकास का सपना साकार होता नही दिख रहा है।

वैसे भी शासनादेश पर गौर करें तो खंड विकास अधिकारी मिहीपुरवा देवीपाटन मंडल में अपनी दूसरी तैनाती पर है। इसके बावजूद कार्यकाल भी पूरा हो गया है। कभी भी स्थानांतरण की गाज भी गिर सकती है। हालांकि राजनीतिक पहुंच से वह जिले के अधिकारियों पर अपना प्रभाव बना रखे हैं। इसलिए अतिरिक्त प्रभार भी है। ऐसे में यह सवाल भी उठना लाजमी है कि जिले में अधिकारियों की कहीं कमी तो नही है ?।

तेलागौढी बना मतदान केंद्र, अब गांव में ही करेंगे मतदान | Bahraich News

सुजौली, बहराइच (Bahraich News) एक पत्थर जरा तबीयत से उछालो यारों… कुछ ऐसा ही कर दिखाया है वन ग्राम बिछिया निवासी सरोज कुमार गुप्ता ने। तेलागौढी के मतदाताओं को अब नदी पार नही करना पडेगा। इस बार उन्हे मतदान करने की सुविधा गांव में ही उपलब्ध होगी। तेलागौढी को मतदान केंद्र का निर्धारण शासन ने कर दिया है। मतदान केंद्र्र संख्या 475 पूर्व मा. वि. भरथापुर स्थित तेलागौढी कक्ष संख्या एक पर 1100 मतदाता पहली बार मताधिकार का प्रयोग करेंगे। इंटरनेट से इसकी जानकारी मिलते ही गांव के लोग खुशी से झूम उठे।

जनपद के मिहीपुरवा विकासखंड की ग्राम पंचायत आम्बा भारत नेपाल सीमा पर स्थित है। इस ग्राम पंचायत की भौगोलिक स्थिति दुरुह है। कतर्नियाघाट संरक्षित वन जीव प्रभाग के आसपास बसे दर्जनों गांव जंगली जानवरों के हमले से आशंकित रहते हैं। जंगल के बीचोबीच से गेरुआ नदी निकलती है। यह नदी जलीय जंतुओं से भरी पडी है। घडियाल और मगरमच्छ का नदी में बसेरा है। ग्राम पंचायत के पश्चिमी छोर पर 11 किलोमीटर दूर तेलागौढी मजरा स्थित है, तो उत्तर-पश्चिम सीमा के बीच 9 किलोमीटर दूर भरथापुर गांव है।

चुनाव के समय भरथापुर और आम्बा दो मतदान केंद्र हैं। भरथापुर मतदान केंद्र से वन ग्राम भवानीपुर, बिछिया, तेला गौड़ी के लोग संबद्ध थे। जिन्हें  वोट डालने गेरुवा नदी तथा वन्यजीवों से भरपूर 5 किलोमीटर जंगल पार कर मतदान करने जाना होता था। यह काफी दुरुह प्रक्रिया थी। ऐसे में 1100 मतदाताओं का नदी पार करके भरथापुर मतदान करने जाना एक बहुत चुनौती भरा कार्य था।

मतदान केंद्र दूर होने के चलते 70 फीसदी लोगों को मतदान से वंचित रह जाना पड़ता था। मतदाता नजदीकी मतदान केंद्र की मांग कर रहे थे। इन दिक्कतों को समझा सरोज कुमार गुप्ता ने। वह ग्राम स्तरीय वन अधिकार समिति के अध्यक्ष भी हैं। वर्ष 2014 में  विधानसभा चुनाव के दौरान जब तेलागौड़ी के 70 फीसदी मतदाता नाव न मिलने के कारण भरथापुर मतदान करने नहीं जा सके तो उन्होंने इस कार्य को एक चुनौती के रूप में स्वीकार किया और लोगों को विश्वास दिलाया कि अब उन्हे मतदान से वंचित नही होना पडेगा।

जन सेवा केंद्र के माध्यम से उन्होंने मतदान से जुडे बडे अधिकारियो का ध्यान इंटरनेट के जरिये दिलाया। बूथ लेवल ऑफिसर  से लेकर उच्च अधिकारियों तक के पैरवी करना शुरु कर दिया। अधिकारियों ने इसका संज्ञान लिया और 6 साल के बाद दिसम्बर 2020 में तेलागौढी को मतदान केंद्र घोषित कर दिया है।

उनके इस कार्य में बीएलओ के साथ-साथ जब्बीर अंसारी, मुश्ताक अली, मनोज कुमार, शाहिद अली, जंग हिंदुस्तानी आदि ने भरपूर सहयोग किया। जब 28 जनवरी को लोगों ने इंटरनेट पर भरथापुर स्थित तेलगौड़ी के मतदान केंद्र का नाम देखा तो लोगों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा और एक दूसरे के साथ लोगों ने गले मिलते हुए मिठाइयां बांटी और खुशियां मनाई। तेलागौड़ी निवासी परमानन्द, परमहंस, जवाहर आदि का  कहना है कि नए साल का ये नया उपहार है जो हमें सरोज गुप्ता के माध्यम से प्राप्त हुआ।

जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक ने किया जिला कारागार का निरीक्षण | Bahraich News

बहराइच (Bahraich News)। कारागार प्रशासन द्वारा बन्दियों को मुहैय्या करायी जा रही सुविधाओं और कारागार की साफ-सफाई व कोविड.19 के संक्रमण की रोकथाम के लिए किये गये उपायों का जायजा लेने के उद्देश्य से जिलाधिकारी शम्भु कुमार व पुलिस अधीक्षक डा.् विपिन कुमार मिश्रा ने जिला कारागार का निरीक्षण किया। 

जिला कारागार के निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक ने पाकशाला सहित बैरकों आदि का निरीक्षण कर कोविड.19 के संक्रमण के रोकथाम के लिए की गयी व्यवस्थाओं आदि की कारागार अधीक्षक से जानकारी प्राप्त करते हुए आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। अधिकारियों ने कहा कि कोबिड 19 का अनुपालन सुनिश्चित करायें। निरीक्षण के दौरान कारागार की साफ-सफाई व अन्य व्यवस्थाएं संतोषजनक पायी गयीं।

बंगाल में तय है तृणमूल का पतन और भाजपा का उत्थान : स्मृति ईरानी

अधिकारियों ने ठंड से बंदियों के बचाव की जानकारी ली और निर्देश दिया कि अलाव जलवाये जाएं तथा बंदियों को गर्म कंबल की व्यवस्था सुनिश्चित करें। जिससे ठंड से बंदियों को ठंड से राहत मिले। जिला कारागार के निरीक्षण के दौरान नगर मजिस्ट्रेट अनिल कुमार सिंह, कारागार अधीक्षक एएन त्रिपाठी, जेलर बीके शुक्ल, डिप्टी जेलर शरेन्दु्र कुमार त्रिपाठी व अखिलेश कुमार, जिला प्रोबेशन अधिकारी विनय कुमार सिंह व अन्य सम्बन्धित लोग मौजूद रहे।

पंचायत चुनाव में गडबडी करने वालों को चिन्हित कर करें कार्रवाईः एसएसपी | Bahraich News

बहराइच (Bahraich News)। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डा. विपिन कुमार मिश्र ने रविवार को पुलिस लाइन सभागार में जिले के सभी चैकी प्रभारियों की बैठक की। बैठक में अपराध रोकने और अपराधियों के खिलाफ कडी कार्रवाई करने के निर्देश दिये। एसएसपी ने यह भी कहा कि पंचायत चुनाव नजदीक हैं। चुनाव में गडबडी करने वाले लोगों को चिन्हित कर निरोधात्मक कार्रवाई करें। जिससे चुनाव निष्पक्ष हो सके।

एसएसपी ने चैकी प्रभारियों को निर्देश दिया कि वह गांवों के पंचायत चुनाव की हलचल तेज हो गई। विभिन्न पदो के लिए अभी से लोग अपनी दावेदारी करने लगे हैं। पंचायत चुनाव शांतिपूर्ण हो इसके लिए गांवों में हो रही गतिविधियों पर चैकी प्रभारी अपनी नजर रखें। ग्रामीणों के साथ अच्छा व्यवहार करें जिससे लोग पुलिस तक गांव में हो रही छोटी बडी घटना की जानकारी देने में संकोच न करें।

गांव में कुछ शरारती लोग चुनाव में गडबडी करने और मतदाताओं को डराने धमकाने का काम करते है। ऐसे लोगों को चिन्हित कर लें और उनके खिलाफ निरोधात्मक कार्रवाई करें। पुलिस की गांवों में सक्रियता इतनी अधिक होनी चाहिए जिससे अराजकता फैलाने वालों में पुलिस का खौफ बना रहे। वह किसी तरह से गडबडी करने की सोंच भी न सकें। चुनाव शांतिपूर्ण और निष्पक्ष कराना पुलिस का कर्तव्य है। इस अवसर पर अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण और नगर, समस्त क्षेत्राधिकारी और जिले की 25 चैकियों के प्रभारी मौजूद रहे।

Related Articles

Back to top button
E-Paper