कानपुर देहात में 37,553 मतदाता घर बैठे डाल सकेंगे वोट

उत्तर प्रदेश में कानपुर देहात प्रशासन बुजुर्ग और दिव्यांग मतदाताओं को विधानसभा चुनाव में पोस्टल बैलेट की सुविधा प्रदान करने की तैयारी में जुट गया है जिसका लाभ जिले के चार विधानसभा क्षेत्रों के करीब 37 हजार 553 मतदाताओं को मिल सकेगा।
आधिकारिक सूत्रों ने मंगलवार को बताया कि मतदान के दिन पोलिंग बूथों पर होने वाली भीड़ के कारण कई बार दिव्यांगों एवं बुजुर्गों को भी वोट डालने के लिए लाइन में खड़ा होना पड़ता है जिससे उन्हें असुविधा होती है। निर्वाचन आयोग की तरफ से इस संबंध में दिशा निर्देश जारी किए गए थे जिसके अनुपालन में कानपुर देहात की भोगनीपुर, अकबरपुर रनियां, सिकंदरा व रसूलाबाद विधानसभा क्षेत्र में जिला प्रशासन दिव्यांग मतदाता एवं 80 वर्ष से अधिक आयु के मतदाताओं को पोस्टल बैलेट की सुविधा देने को लेकर तैयारियों में जुट गया हैं।
जिला निर्वाचन अधिकारी/जिलाधिकारी जितेंद्र प्रताप सिंह ने दिशा निर्देश भी जारी कर दिए हैं जिसके चलते विधान सभा चुनाव में दिव्यांग व बुजुर्ग मतदाताओं को पोलिंग बूथ तक जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। इस बार दिव्यांग और 80 साल की उम्र पार कर चुके मतदाताओं को घर बैठे वोट डालने की सुविधा दी जाएगी।
कानपुर देहात की चारों विधान सभा क्षेत्रों में 8858 दिव्यांग मतदाता हैं। वहीं, 80 की उम्र पूरी कर चुके बुजुर्ग मतदाताओं की संख्या 28,495 है। जल्द ही इन मतदाताओं के घर जाकर बीएलओ मतदान का विकल्प पूछकर एक फार्म भरेगा। अगर मतदाता घर से वोट देने का विकल्प चुनेगा तो उसे मतदान के दिन पेपर बैलट की व्यवस्था तय करने के साथ मतदान की सुविधा मुहैया कराई जाएगी। निर्वाचन आयोग के इस फैसले से जिले के दिव्यांग व बुजुर्ग मिलाकर 37,553 मतदाता सीधे तौर पर लाभान्वित होंगे।
यदि ऐसे व्यक्तियों द्वारा पोस्टल बैलेट का विकल्प दिया जाता है तो उनके निवास के पते पर दो मतदान कार्मिक पर्याप्त सुरक्षा कर्मचारी के साथ मतदान की सुविधा उपलब्ध करायेंगे तथा पोस्टल बैलेट मानकों के अनुसार रिटर्निंग आफीसर को वापसी में हस्ताक्षर करायेंगे। ऐसे चिन्हित मतदाताओं की सूची राजनैतिक प्रत्याशियों को भी दी जायेगी ताकि वे गुप्त मतदान की प्रक्रिया के अवलोकन के लिये स्वयं भी अपना प्रतिनिधि भेज सके।
जिला निर्वाचन अधिकारी जितेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि समस्त उप जिलाधिकारियों को दिशा निर्देश जारी कर दिए गए हैं कि इस कार्य को जल्द से जल्द पूरा करने के लिए दिव्यांग व बुजुर्ग मतदाताओं के घर जाकर बीएलओ फार्म अपडेट कराएंगे और जिला निर्वाचन कार्यालय को सूचित भी करेंगे।

Related Articles

Back to top button
E-Paper