15-17 फरवरी तक लखनऊ से गोरखपुर चिड़ियाघर लाए जाएंगे 44 वन्यजीव

गोरखपुर। स्थित शहीद अशफाक उल्ला खॉं प्राणी उद्यान में वन्य जीवों को लाए जाने का सिलसिला सोमवार से बुधवार तक एकबार फिर चलेगा।

गोरखपुर

पहले चरण में लखनऊ से लाये गए बाघ (टाइगर), तेंदुआ (लेपर्ड), साही और कछुआ का बाड़ा आबाद होने के बाद सोमवार को कुछ और वन्य जीवों को लाने की तैयारी है। इसके बाद बुधवार को कुछ और वन्यजीव गोरखपुर स्थित चिड़ियाघर में लाये जाएंगे। सोमवार से बुधवार तक गोरखपुर स्थित अशफाक उल्ला खान प्राणी उद्यान में अभी वन्य जीवों को लाने का सिलसिला चलता रहेगा।

नवाब वाजिद अली शाह प्राणी उद्यान लखनऊ से पहले चरण में लाए जाने वाले वन्य जीवों में काले हिरन 7 (4 नर व 3 मादा), जंगली बिल्ली 1 (मादा), बारासिंघा 4 (2 नर 2 मादा), पाढ़ा 2 (1 नर 1 मादा) शामिल हैं, जिन्हें 15 फरवरी को गोरखपुर लाया जाएगा। इन वन्य जीवों के अलावा 17 फरवरी को दो सियार (01 नर व 01 मादा), 06 काकड़ (03 नर व 03 मादा), दो रसल वाइपर (01 नर व 01 मादा), चार अजगर (02 नर 02 मादा), दो घड़ियाल (01 नर व 01 मादा) भी गोरखपुर चिड़ियाघर लेन की तैयारी है।

बता दें कि नवाब वाजिद अली शाह प्राणी उद्यान लखनऊ से मादा बाघिन मैलानी, मादा तेंदुआ नन्दा और एक नर और एक मादा साही गोरखपुर प्राणी उद्यान के लिए शनिवार को लाये जा चुके हैं। घड़ियाल पुर्नवास केंद्र उत्तर प्रदेश लखनऊ से 09 कछुए (टर्टल) भी प्राणी उद्यान पहुंच गए हैं। इतना ही नहीं, इसके पूर्व विनोद वन गोरखपुर से भी प्राणी उद्यान में 02 नर चीतल (स्पाटेड डियर), एक नर एवं एक मादा पाढ़ा (हॉग डियर) भी पहुंचाए जा चुके हैं।

लखनऊ से आए वन्यजीवों को वरिष्ठ वाइल्ड लाइफ विशेषज्ञ पशु चिकित्सक डॉ. आरके सिंह के परीक्षण के बाद सभी वन्यजीव को उनके बाड़े में प्रवेश कराया गया था। कोरोना के खतरों को देखते हुए केंद्रीय प्राणी उद्यान प्राधिकरण द्वारा जारी गाइड लाइन के मुताबिक ही इन्हें बाड़े में क्वारंटीन रखा गया है।

बोले निदेशक

लखनऊ प्राणी उद्यान के निदेशक आरके सिंह ने बताया कि गोरखपुर के नवनिर्मित जू में इसी हफ्ते और वन्य जीवों को भेजने की तैयारी है। फिलहाल लखनऊ प्राणी उद्यान से प्रथम चरण में कुल 44 वन्यजीव आएंगे। बाघ, तेंदुआ और कछुआ पहुंच चुके हैं।

Related Articles

Back to top button
E-Paper