आगरा में बोरवेल में गिरे बच्चे को काफी मशक्कत के बाद निकाला गया, सेना और एनडीआरएफ ने संभाला था मोर्चा

आगरा के फतेहाबाद के थाना निबोहरा ग्राम धरियाई में सौ फीट गहरी बोरवेल में गिरे बच्चे को सेना और एनडीआरएफ की टीम के संयुक्त प्रयास से नौ घंटे बाद सुरक्षित निकाल लिया गया।

आगरा पुलिस-प्रशासन ने सेना और एनडीआरएफ को मदद के लिए बुलाया। सेना ने मोर्चा संभाला और शाम को बच्चे को सकुशल बाहर निकाल लिया। गांव में स्वास्थ्य विभाग की एंबुलेंस और चिकित्सकों को तैनात किया गया था। चार साल के मासूम शिवा को बोरवेल से निकालकर सबसे पहले उसका स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। फिलहाल बच्चा चिकित्सकों की देखरेख में हैं।

मालूम हो कि बच्चे को दी गई ऑक्सीजन
शिवा के बोरवेल में गिरने की खबर मिलने के बाद मौके पर आसपास के गांव के लोग भी पहुंचे। बोरवेल से सभी को दूर रखा गया, ताकि अंदर मिट्टी न पहुंचे। वहीं मौके पर पहुंचे अधिकारियों ने बच्चे को ऑक्सीजन देने के लिए पाइप बोरवेल में पहुंचाया। बताया गया है कि पंद्रह दिन पहले इस बोरवेल से पाइप निकालकर छोटेलाल के परिजनों ने दूसरे बोरवेल में डाल दिए थे। लेकिन परिवारीजन इस बोरवेल के गड्ढे को बंद करना भूल गए। सोमवार को हुए हादसे के बाद परिवार में इस बात का मलाल है कि उन्होंने इसे बंद नहीं किया।

Related Articles

Back to top button
E-Paper