यूपी में अब आदिवासी किशोरी से सामूहिक दुष्कर्म, नाजुक हालत में पीड़‍िता अस्‍पताल में भर्ती

बलरामपुर। योगी राज में सूबे में दुष्कर्म की घटनाये बढ़ती ही जा रहीं हैं। ताजा मामला बलरामपुर जिले के वाड्रफनगर चौकी क्षेत्र अंतर्गत आने वाले ग्राम महोवा का है, जहां एक 14 वर्षीय आदिवासी किशोरी के साथ सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया है। पुलिस एवं चाइल्डलाइन की टीम ने पीड़िता को नाजुक हालत में अस्पताल में भर्ती कराया है। इस मामले को दबाने व आरोपियों को बचाने के लिए सत्ताधारी दल के कुछ नेताओं द्वारा चौतरफा दबाव बनाया जा रहा है।

जानकारी के अनुसार पीड़ितारविवार से गायब थी। सोमवार दोपहर तक घर ना आने पर पीड़िता का पिता पुलिस चौकी में मामले की रिपोर्ट दर्ज कराने पहुंचा। चौकी में मौजूद पुलिस कर्मियों ने उसके शराब के नशे में धुत होने का हवाला देकर उसे वापस घर भेज दिया था। इस मामले में क्षेत्र के एक राजनीतिक रसूखदार के घरके कुछ लोगों के संलिप्त होने की बातें भी सामने आ रही है। बताया जा रहा है कि मामला सरगर्म होते देख आरोपियों ने सोमवार की देर रात आदिवासी किशोरी को बेसुध हालत में उसके घर के पास बेहोशी हालत में फेंक कर फरार हो गए। देर रात उसे बेहोशी की हालत में पाया गया।

गांव के ही किसी व्यक्ति द्वारा चाइल्ड लाइन के हेल्पलाइन नंबर 108 पर कॉल कर स्थिति से अवगत कराया गया। चाइल्‍डलाइन के अधिकारियों ने पीड़िता के परिजनों से संपर्क कर गांव पहुंचे और पुलिस को बुलाकर उसे उपचार के लिए नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया। बताया जा रहा है कि पीड़िता को नशे की दवाइयां खिलाने के बाद उसके साथ गैंगरेप किया गया है। इस मामले में अभी तक किसी प्रकार की कार्रवाई जनहि हुई है।

पुलिस एसडीओपी ध्रुवेश जयसवाल ने बताया कि बच्ची को रात में अस्‍पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है। मामला सामूहिक दुष्कर्म का है या नहीं अभी यह नहीं कह सकते। अभी तक महिला चिकित्सकों की टीम नहीं पहुंची है, उन्हें बुलाया गया है। चिकित्सकों की टीम द्वारा जांच की जाएगी। जांच के बाद जो भी रिपोर्ट आएगी, उसके आधार पर ही कार्रवाई की जाएगी।

Related Articles

Back to top button
E-Paper