अभिनेता ओम पुरी ने संजीदा अभिनय से दर्शकों के दिलों पर खास पहचान बनायी

बॉलीवुड में अपने संजीदा अभिनय और संवाद अदायगी से ओम पुरी ने लगभग तीन दशक तक दर्शको को दीवाना बनाने वाले ओमपुरी अभिनेता नही बल्कि रेलवे ड्राइवर बनना चाहते थे । 18 अक्तूबर 1950 को हरियाणा के अंबाला में जन्में ओम पुरी का बचपन काफी कष्टो में बीता । परिवार की जरूरतों को पूरा करने के लिये उन्हें एक ढाबें में नौकरी तक करनी पड़ी थी। लेकिन कुछ दिनां बाद ढ़ाबे के मालिक ने उन्हें चोरी का आरोप लगाकर हटा दिया ।बचपन में ओमपुरी जिस मकान में रहते थे उससे पीछे एक रेलेवे यार्ड था।

रात के समय ओमपुरी अक्सर घर से भागकर रेलवे यार्ड में जाकर किसी ट्रेन में सोने चले जाते थे। उन दिनों उन्हें ट्रेन से काफी लगाव था और वह सोंचा करते कि बड़े होने पर वह रेलवे ड्राइवर बनेगे ।कुछ समय के बाद ओम पुरी अपने ननिहाल पंजाब के पटियाला चले आये जहां उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा पूरी की। इस दौरान उनका रूझान अभिनय की ओर हो गया और वह नाटकों में हिस्सा लेने लगे ।इसके बाद ओम पुरी ने खालसा कॉलेज में दाखिला ले लिया।इस दौरान ओमपुरी एक वकील के यहां बतौर मुंशी काम करने लगे ।इस बीच एक बार नाटक में हिस्सा लेने के कारण वह वकील के यहां काम पर नही गये।

Related Articles

Back to top button
E-Paper