अफगानिस्तान से अमेरिकी सैनिकों को वापस बुलाने की आधी प्रक्रिया पूरी

अफगानिस्तान से अमेरिकी सैनिकों को वापसी की प्रक्रिया का आधे से अधिक काम पूरा हो चुका है। अमेरिकी अधिकारियों ने बताया कि यह प्रक्रिया चार जुलाई तक पूरी की जा सकती है और इस साल गर्मियों के अंत तक साजो-सामान के साथ सभी अमेरिकी सैनिेकों को अफगानिस्तान से वापस बुला लिया जाएगा।

पश्चिम एशिया में अमेरिका के शीर्ष कमांडर जनरल फ्रैंक मैकेन्जी इस सप्ताह रक्षा मंत्री लॉयड आस्टिन को अफगानिस्तान में अमेरिकी दूतावास की सुरक्षा और आतंकवाद के खिलाफ जारी लड़ाई से संबंधित सैन्य विकल्पों के बारे में जानकारी देंगे।

सैनिकों की वापसी के बाद यह चिंता का एक विषय है कि अमेरिका सरकार के साथ काम करने वाले अफगानिस्तान के लोगों की सुरक्षा कैसे की जाएगी। इसके अलावा कट्टरपंथियों के बारे में खुफिया जानकारी मुहैया कराने वाला तंत्र भी प्रभावित होगा। इसलिए माना जा रहा है कि यहां पर कुछ अमेरिकी सैनिकों की मौजूदगी रहेगी। यह संख्या करीब एक हजार तक होने का अनुमान है।

हालांकि, तालिबान ने मंगलवार को एक बयान जारी कर कहा है कि वह अमेरिकी सेना के साथ सहयोग करने वाले अफगानिस्तान के लोगों पर हमले नहीं करेगा। तालिबान ने ऐसे लोगों से देश नहीं छोड़ने और अपने घरों की ओर लौटने की भी अपील की है।

अफगानिस्तान से अमेरिकी सैनिकों की वापसी की आधिकारिक प्रक्रिया एक मई से शुरू हुई थी, उस समय अफगानिस्तान में अमेरिकी सैनिकों की संख्या 2,500 से 3,500 के बीच थी। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने सेना को 11 सितंबर तक का समय देते हुए कहा है कि सैनिकों की वापसी की प्रक्रिया में किसी प्रकार की जल्दबाजी नहीं की जाएगी।

अफगानिस्तान से अमेरिकी सैनिकों की वापसी को अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन की राजनीतिक साख से जोड़कर देखा जा रहा है। हालांकि, अमेरिकी सैनिकों की वापसी के बाद अफगानिस्तान में अस्थिरता की भी आशंका बनी हुई है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper