आलिया भट्ट की फिल्म ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ की रिलीज डेट का हुआ ऐलान

आलिया भट्ट

बॉलीवुड एक्ट्रेस आलिया भट्ट की अपकमिंग फिल्म ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ की रिलीज डेट का ऐलान हो गया है। साथ ही आज टीजर रिलीज होने से पहले ही आलिया का नया पोस्टर सामने आ गया है। ऐसा होना फैंस के लिए एक सरप्राइज है। बता दें कि आज संजय लीला भंसाली का जन्मदिन है। इस खास मौके पर मूवी का टीजर रिलीज किया जाएगा।

राजकुमार राव और भूमि पेडनेकर की फिल्म बधाई-2 शूटिंग हुई पूरी

सामने आया फिल्म का नया पोस्टर

टीजर रिलीज होने से पहले फिल्म का नया पोस्टर सामने आया है। इसमें आलिया अलग ही अंदाज में नज़र आ रही हैं। इसके साथ ही ये भी खुलासा किया गया है कि फिल्म 30 जुलाई 2021 को रिलीज होगी। 24 फरवरी को संजय लीला भंसाली के जन्मदिन पर फिल्म का टीजर रिलीज होगा।

अजय देवगन और विक्रांत मैसी आएंगे नज़र

गंगूबाई काठियावाड़ी हुसैन ज़ैदी की किताब माफ़िया क्वींस के एक अध्याय पर बेस्ड है। फ़िल्म में अजय देवगन और विक्रांत मेसी भी अहम किरदार निभाते नजर आएंगे। इस फिल्म को लेकर संजय लीला भंसाली की कंपनी भंसाली प्रोडक्शन ने ऐलान किया था कि यह फिल्म 11 सितंबर 2020 को रिलीज होगी, फिल्म का पोस्टर शेयर करके इस बात की जानकारी दी गई थी।

विजय राज भी आएंगे नज़र

‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ में विजय राज भी नजर आएंगे। इस प्रतिभाशाली कलाकार से इस बारे में जब पूछा गया तो उन्होंने बताया, “एक फिल्म है ‘गंगूबाई’, मैं उसमें एक छोटा-सा किरदार निभा रहा हूं।”

कौन हैं ‘गंगूबाई काठियावाड़ी?

‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ रियल लाइफ पर आधारित फिल्म है। लेखक एस हुसैन जैदी की किताब ‘माफिया क्वीन्स ऑफ मुंबई’ की बात करें तो इसमें बताया गया है कि गंगूबाई गुजरात के कठियावाड़ की रहने वाली थीं, जिसकी वजह से उन्हें ये नाम मिला है।  बहुत ही कम उम्र में गंगूबाई को वेश्यावृत्ति में ढकेल दिया गया था। बाद में कुख्यात अपराधी गंगूबाई के ग्राहक बन गए। गंगूबाई मुंबई के कमाठीपुरा इलाके में कोठा चलाती थीं। गंगूबाई ने सेक्सवर्कस और अनाथ बच्चों के लिए भलाई के लिए बहुत काम किया था।

पति ने धोखा देकर 500 रुपये में कोठे पर बेच दिया

गंगूबाई का पूरा नाम गंगा हरजीवनदास काठियावाड़ी था। गंगूबाई पहले बॉलीवुड फिल्मों में एक्ट्रेस बनना चाहती थीं। गंगूबाई जब 16 साल की थीं तो उनको उनके पिता के अकाउंटेंट से प्यार हो गया, गंगूबाई ने उससे भागकर शादी कर ली और मुंबई में आकर बस गईं। लेकिन यह शादी नहीं फ्रॉड था, गंगूबाई के पति ने उन्हें धोखा दिया और 500 रुपये में उन्हें कोठे में बेच दिया।

Related Articles

Back to top button
E-Paper