एनटीपीसी गेट पर सर्वदलीय प्रदर्शन, प्रबंधन के गेट खोलने के आश्वासन पर धरना समाप्त

डेस्क। भारत सरकार की महारत्न कंपनी एनटीपीसी के सिंगरौली विद्युत गृह के आवासीय परिसर में आम जनता के प्रवेश के लिए गेट न खोलने से नाराज विभिन्न दलों के कार्यकर्ताओं ने धरना-प्रदर्शन किया। धरने में भाजपा, कांग्रेस, सपा व बसपा के पदाधिकारी शामिल थे। लगभग 12 घंटे के धरने के बाद स्थानीय थाना प्रभारी की मध्यस्थता में आंदोलनकारियों व एनटीपीसी सिंगरौली प्रबंधन प्रतिनिधि उप महाप्रबंधक पुरुषोत्तम लाल व गौतम सिंह भाटी के मध्य हुई वार्ता में 8 अक्टूबर से दूसरे मुख्य गेट उर्जा द्वार को खोलने पर बनी सहमति बनी औऱ धरना-प्रदर्शन समाप्त हुआ।

उल्लेखनीय है कि एनटीपीसी के सिंगरौली विद्युत गृह के आवासीय परिसर पर पांच गेट थे, जिसमें सुरक्षा के दृष्टिकोण से जीएम बंग्ला गेट स्थाई रूप से बंद कर दिया गया था। कोरोना संक्रमण के दौरान 25 मार्च लाक डाउन से परिसर के अन्य 3 गेट बंद कर केवल उर्जा नायक द्वार पर सीआईएसएफ द्वारा सख्त चेकिंग व पास से ही परिसर में प्रवेश जारी रहा। इधर अनलॉक 5 के बाद सब कुछ खोले जाने के बावजूद परिसर के गेट न खोलने से व्यापार पर बुरा असर व परिसर के अंदर बैंक, पोस्ट ऑफिस, अस्पताल व शॉपिंग सेंटर जाने से वंचित बाहरी लोगों का कष्ट देखते हुए भाजपा,व्यापार मंडल व अन्य दलों की बार-बार अपील के बावजूद गेट न खोलने से नाराज भाजपाई शनिवार दोपहर उर्जा नायक गेट को जाम कर दिया।

मौके पर पहुंचे थाना प्रभारी मिथिलेश मिश्रा ने स्थिति को संभाला और प्रबंधन व धरनारत नेताओं से वार्ता कर 8 अक्टूबर से दूसरे गेट को खोले जाने के आश्वासन के बाद धरना समाप्त कराया । इस मौके पर अनिल सिंह गौतम मंडल अध्यक्ष प्रशांत श्रीवास्तव ग्राम प्रधान का कांड रविंद्र यादव व सपा के नेता पन्नालाल कांग्रेश के मनोनीत रवि शत्रुघ्न पांडे अनिल बंसल सत्य प्रकाश सिंह निजामुद्दीन सोहेल खान बृजेश सिंह गुप्तेश्वर सोनी सहित भारी संख्या में व्यापार मंडल व स्थानीय ग्रामीण मौजूद रहे।

Related Articles

Back to top button
E-Paper