कानपुर के इस लड़के ने 6 सब्जेक्ट में NET पास कर रचा इतिहास, जानें तैयारी का अनोखा तरीका

NET

छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय कानपुर के पूर्व छात्र अमित कुमार निरंजन ने 6 विषयों में NET क्वालीफाई करके इतिहास रच दिया है। इस उपलब्धि के लिए उनका नाम इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में दर्ज हो गया है। बता दें कि भारत में अभी तक इतने विषयों में किसी छात्र ने नेट क्वालीफाई नहीं किया। कानपुर विश्वविद्यालय के कुलपति ने बीते बुधवार को अमित कुमार निरंजन को इंडिया बुक का रिकॉड्स का प्रमाण पत्र प्रदान किया।

जानिए इस परीक्षा को बार बार निकालने की वजह बारे में सब कुछ…

अमित वाणिज्य, अर्थशास्त्र, प्रबंधन, शिक्षा शास्त्र, राजनीति विज्ञान व समाजशास्त्र विषयों से नेट क्वालफाई करने वाले देश के पहले और इकलौते बन गए हैं। निरंजन ने अपनी इस सफलता के पीछे का राज भी बताया। उन्होंने कहा कि मैंने अपना करियर पीजीटी टीचर के तौर पर शुरू किया था, तब मैंने महसूस किया कि बच्चेt विषय को समझने के बजाय नंबर के पीछे भागते हैं। मैं बच्चों को ये संदेश देना चाहता हूं कि अगर आप नंबर को न सोचकर सिर्फ विषय की तैयारी करते हैं तो कोई भी विषय निकाल सकते हैं।

AIIMS में 15 सीनियर रेजिडेंट पदों पर निकली बंपर वेकेंसी, ऐसे करें आवेदन

अमित का कहना है कि भले ही मैं विज्ञान में कोई रिसर्च नहीं कर रहा लेकिन अब वो एजुकेटर बनकर कर रहा हूं। वो भारत में एजुकेशन रीफॉर्म लाना चाहते हैं। वो टीचर्स ट्रेनिंग के लिए मैकमिलन के साथ काम कर रहे हैं। वो बताते हैं कि‍ अब तक वो 25 हजार स्टूीडेंट्स और 5 हजार टीचर को ट्रेंड कर चुके हैं।

सिर्फ भारत ही नहीं इंटरनेशनल लेवल पर कई सारे स्टू डेंट्स को ट्रेंड कर चुके हैं। उनकी ट्रेनिंग का सबसे खास प्वांइंट है कि बच्चोंभ में एग्जाशमिनेशन स्ट्रेटस कम हो। अमित कहते हैं कि उन्हेंर इसका आइडिया तब आया जब वो करियर के शुरुआती दौर में पीजीटी टीचर के तौर पर काम कर रहे थे।

यहां पुलिस विभाग में निकली ताबड़तोड़ भर्ती, ऐसे करें आवेदन

क्या है स्ट्रेटजी

अमित ने बताया कि मेरी तैयारी करने की स्ट्रेटजी बेहद आसान है। अगर कोई भी स्टू्डेंट नंबर के आधार पर तैयारी के बजाय टॉपिक पर फोकस करे और उसे समझे तो वो कोई भी विषय पढ सकता है। बशर्ते उसका तरीका सही हो।

फिलहाल अमित तीन किताबें लिख रहे हैं। उन्होंने कहा कि मेरी पहली किताब एडल्टह एजुकेशन पर है। मैं चाहता हूं कि वो किताब मैं सीबीएसई और आईसीएसई आदि बोर्ड में पहली से तीसरी क्लास तक शुरू करा पाऊं। वहीं दूसरी किताब एग्जा मिनेशन स्ट्रेईस पर है। जिसमें ये बताया गया है कि कैसे कंटेंट पर कंसट्रेट करके आप हर विषय तैयार कर सकते हैं। इस तरह एग्जा मिनेशन स्ट्रिस को लेकर कई सूत्र इस किताब में होंगे।

इन छह विषयों में निकाला यूजीसी नेट

अमित ने 2010 से नेट निकालना शुरू किया

1.     पहला 2010 जून में नेट जेआरएफ कॉमर्स में

2.    फिर 2010 दिसंबर में इकोनॉमिक्स  से

3.    2012 दिसंबर मैनेजमेंट से

4.    2015 दिसंबर एजुकेशन से

5.    2019 दिसंबर राजनीति विज्ञान से

6.    2020 जून में समाजशास्त्रस से

वो कहते हैं कि फिलहाल आगे दर्शनशास्त्र में नेट क्लीयर करना है, इसी विषय से परास्नातक करने के बाद।

फॉलो कर सकते हैं ये टिप्स

•             विषय को समझने व लिखकर तैयार करने की आदत डालें

•             सभी विषय को बराबर समय दें

•             अपनी कमजोरी पर विशेष ध्यान रहे

•             जो विषय कठिन लगता है और उसके सूत्र, परिभाषाएं व प्रश्न धीरे-धीरे समझें।

Related Articles

Back to top button
E-Paper