ममता को अमित शाह की चुनौती, बंगाल में हर हाल में लागू होगा सीएए, दीदी रोक सकें तो रोक लें

पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना जिले में गोसाबा में आज एक जनसभा में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को चुनौती देते हुए कहा कि बंगाल के हिन्दू शरणार्थियों को नागरिकता देने के उनके प्रयास काे ममता रोककर दिखाये। उन्होंने यहां लंबे समय से रह रहे शरणार्थी हिंदू समुदाय के लोगों को नागरिकता देने संबंधी अपने वादे को दोहराया।

जनसभा में शाह ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनने के बाद बंगाल में हर हाल में नागरिकता अधिनियम लागू कर शरणार्थियों को स्थाई नागरिकता दी जाएगी। अगर ममता बनर्जी रोक सकें तो रोक लें। शाह ने यह भी कहा कि बंगाल में भाजपा की सरकार बनने के बाद स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (एसआईटी) का गठन कर भ्रष्टाचारियों को जेल भेजा जाएगा। उन्होंने कहा कि भाजपा बंगाल का विकास करना चाहती है लेकिन ममता बनर्जी सिर्फ भतीजे को मुख्यमंत्री बनाना चाहती है।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने अपने भाषण की शुरुआत शहीद दिवस के मौके पर भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव को श्रद्धांजलि देकर की। इसके बाद उन्होंने फिर दोहराया कि बंगाल में भाजपा की सरकार बनते ही नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लागू करेगी। अमित शाह ने कहा कि आज बंगाल की भूमि भ्रष्टाचार, तोलाबाजी का अड्डा बन गई है। उन्होंने कहा कि भाजपा की सरकार बनते ही गोरखधंधों को खत्म कर दिया जाएगा। किसी को भी एक पैसा कटमनी नहीं देनी पड़ेगी।

शाह ने कहा कि सरकार बनने के बाद दो साल में इस इलाके में नल से पीने के पानी लाने की सुविधा कर दी जाएगी। गृह मंत्री ने कहा कि राज्य में भाजपा सरकार बनने पर वे सुंदरवन विकास बोर्ड की स्थापना कर क्षेत्र में विकास कार्य कराएगी। उन्होंने कहा कि जब अम्फन चक्रवात आया था, तब मोदी सरकार ने दस हजार करोड़ रुपये भेजे थे, लेकिन उसे भतीजा एंड कंपनी खा गई। उन्होंने कहा कि सुंदरवन में हमारी सरकार एक एम्स बनवाएगी, साथ ही टूरिस्ट स्पॉट को भी तैयार करेगी। शाह ने ममता बनर्जी पर आरोप लगाया कि उन्होंने अपने 282 में से 82 वादे भी पूरे नहीं किए। दीदी अपना हिसाब नहीं देती है, लेकिन भाजपा इस बार तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) का हिसाब कर देगी। शाह ने यह भी ऐलान किया कि भाजपा की सरकार बनी तो हम एक ही साल में सुंदरवन को जिला बना देंगे।

दरअसल, कई जनसभाओं से ममता बनर्जी दावा करती रही हैं कि वह पश्चिम बंगाल में कभी भी नागरिकता अधिनियम लागू नहीं होने देंगी। इस पर शाह ने आज ममता पर कई जुबानी प्रहार किये।

Related Articles

Back to top button
E-Paper