एनीमिया की समस्या से हैं परेशान, तो आज ही आजमाएं ये घरेलू उपाय

एनीमिया की समस्या

हमारे रक्त में हीमोग्लोबिन का अंश बहुत जरूरी होता है। जब खून में हीमोग्लोबिन की मात्रा कम हो जाती है। तो उसे एनीमिया या खून की कमी कहते हैं। खून में हीमोग्लोबिन की कमी से बहुत जल्दी थकान महसूस होने लगती है। शरीर में खून की कमी होने से लोगों को कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

हीमोग्लोबिन की कमी से आमतौर पर कमजोरी महसूस होने के साथ ही जल्दी थकना महसूस होने लगती है। जिसकी वजह से किसी भी काम को करते हुए जल्दी सांस फूलने लगती है। इसके साथ ही हाथ-पैरों में दर्द होने लगती है। हीमोग्लोबिन की कमी से चिड़चिड़ापन भी होने लगता है।

खून की कमी से हथेली और पैरों के नीचले हिस्से में पीलापन, नाखूनों में पीलापन के साथ ही चेहरे पर काले धब्बे पड़ने लगते हैं। आपको बता दें कि हीमोग्लोबिन ऐसा तत्व है जो खून को लाल करता है। और ऑक्सीजन को हमारे हर अंग तक पहुंचाता है। ऑक्सीजन वो जीवनरक्षित पदार्थ है, जिससे हम सांस लेते हैं।

एनीमिया

खून में हीमोग्लोबिन का कम लेवल कम होने से शरीर में कमजोरी आने लगती है। इसके अलावा आयरन की कमी की वजह से आगे चलकर कई स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। आयरन की कमी से एनीमिया होता है। एक रिपोर्ट के मुताबिक भारत में 16-20 साल के उम्र वालों में 30 प्रतिशत युवक और 56 प्रतिशत युवतियां एनीमिया जैसी बिमारी का शिकार हैं। तो वहीं कुछ देसी उपायों से एनीमिया जैसी बिमारी से छुटकारा पाया जा सकता है।

काले तिल के इस्तेमाल से आयरन लेवल आसानी से बढ़ाया जा सकता है। काले तिल में पाया जाने वाला सेलेनियम, विटामिन B6, कॉपर, जिंक भरपूर मात्रा में पाया जाता है। इसके लिए आप काले तिल को सुखा कर उसमें शहद और घी को मिलकर एक लड्डू बना लें। इसके बाद आप इसे रोजाना दूध के साथ इसका सेवन करें। ये आपके शरीर में आयरन की मात्रा को पूरा करेगा।  

ड्राई फ्रूट में भरपूर मात्रा में खनिज पदार्थ पाए जाते हैं। जिसमें खजूर आपकी स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद होता है। इसके लिए आप खजूर और किशमिश को रोज नाश्ते के तौर पर सुबह खाने से शरीर में रक्त संचार ठीक रहता है और कमजोरी में राहत मिलती है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper