गंजा कहने से नाराज सौतेले पिता ने बेटी को उतारा मौत के घाट

मां

नागदा/उज्जैन। जिले के नागदा शहर में गोल्डन लॉज में 2 दिन पूर्व हुई एक युवती की हत्या के मामले की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। युवती के सौतेले पिता ने ही उसे मौत के घाट उतारा था। मंगलवार दोपहर सीएसपी मनोज रत्नाकर और थाना प्रभारी श्याम चंद्र शर्मा ने प्रेस वार्ता आयोजित कर खुलासा किया। आरोपित मान सिंह ने बताया कि सौतेली बेटी सोनाली उसके साथ अभद्र व्यवहार करती थी। वह घर का सारा काम करता था, इसके बावजूद सोनाली उसके साथ गाली गलौज करती थी। इससे नाराज होकर उसने उक्त घटना को अंजाम दिया। पुलिस ने मानसिंह के खिलाफ भादवी की धारा 302 में प्रकरण दर्ज कर न्यायालय में पेश किया। जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

पुलिस के अनुसार, पुराने बस स्टैंड पर स्थित गोल्डन लॉज में बने किराए के कमरे में रविवार सुबह 19 वर्षीय युवती सोनाली का शव मिला था। सोनाली अपनी माता भूरी बाई के मकान में रहती थी। सोनाली ने भी महिदपुर निवासी विशाल से करीब एक वर्ष पूर्व विवाह किया था, लेकिन दोनों के बीच में विवाद हो गया। नवंबर 2020 में सोनाली ने पति के खिलाफ पुलिस थाने में भादवि की धारा 376 में प्रकरण दर्ज करवाया था। जनवरी माह में विशाल जमानत पर जेल से बाहर आया था। बताया जा रहा है कि जेल से बाहर आने के बाद विशाल का सोनाली से विवाद हुआ था। इसका फायदा उठाकर मानसिंह ने सोनाली की हत्या कर दी, ताकि यह लगे कि युवक ने बदला लेने की भावना से हत्या की है। मान सिंह ने पुलिस को बताया था कि विशाल ने हत्या की है। सोनाली की मां भूरीबाई ने दूसरी शादी मानसिंह गुर्जर से लगभग 2 वर्ष पूर्व शादी की थी। मृतक सोनाली की चार माह की एक बेटी है।

कैसे दिया घटना को अंजाम

मानसिंह प्रतिदिन सुबह 6 बजे उठकर अपनी पत्नी भूरी बाई के साथ 7 बजे मुक्तेश्वर महादेव मंदिर में संचालित होने वाली नीलाम सब्जी मंडी में चला जाता था। वहां से सब्जी खरीदकर दोनों सुबह 8 बजे अपनी दुकान पर आ जाते थे। दुकान खोलने के बाद मानसिंह अपने घर पर पानी भरता और पुन: दुकान पर आ जाता था। जिसके बाद वह सुबह 11 बजे जाता और खाना बनाकर पत्नी का डिफिन लेकर दुकान पर आ जाता था।

प्रतिदिन की तरह ही मानसिंह 28 फरवरी को सुबह 8 बजे जैसे ही अपने कमरे में पहुंचा तो उसकी सौतेली बेटी ने कहा- गंजे दरवाजा खोल दें। मानसिंह का कहना है कि आए दिन बेटी के गौली गलौच और अभद्र व्यवहार करने से मानसिंह परेशान हो गया था। 28 फरवरी को उसका गुस्सा बढ़ गया और उसने सोनाली को घर में रखी ईंट से सिर पर मार दिया। जिससे वह गिर गई और उसकी मौत हो गई। उसके बाद मान सिंह अपने साले के बेटे को लेकर घर खाना बनाने के लिए पहुंचा और खाना बनाने की तैयारी करने लगा। इधर साले के बेटे ने बिस्तर में पड़े शव के मुंह से तकिया हटाया तो वह दंग रह गया और चिल्लाया। जिसके बाद पुलिस को सूचना दी गई और पुलिस मौके पर पहुंची।

घटना स्थल पर जब पुलिस पहुंची तो मानसिंह ने ओवर एक्टिंग की और कहने लगा कि इसके पति विशाल ने ही इसकी हत्या की है। पुलिस ने लॉज के कैमरे खंगाले तो किसी भी कैमरे में विशाल नजर नहीं आया। यहां तक कि घटना वाले दिन भी विशाल की मोबाइल लोकेशन उसके घर महिदपुर की मिली। पुलिस ने जब आसपास पूछताछ की तो पता चला कि आए दिन सोनाली का घर में माता पिता से झगड़ा होता था।जिससे पुलिस को शंका हुई। पुलिस ने मानसिंह से सख्ती से पूछताछ की तो मानसिंह से अपना जुर्म कबूल लिया।

Related Articles

Back to top button
E-Paper