दक्षिण कश्मीर में आतंकवाद विरोध अभियान खत्म हुआ

दक्षिण कश्मीर के कुलगाम में सुरक्षा बलों ने बुधवार शाम से शुरू किए गए आतंकवाद विरोधी अभियान समाप्त हो गया है, जिसमें एक पाकिस्तानी आतंकवादी मारा गया और एक पुलिसकर्मी शहीद हो गया।अधिकारियों ने गुरुवार को अभियान समाप्त होने की जानकारी दी।
सुरक्षाबलों और आंतकवादियों के बीच मुठभेड़ में तीन जवान और दो नागरिक भी घायल हुए हैं।

एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “कुलगाम के परिवान गांव में ऑपरेशन खत्म हो गया है। जम्मू कश्मीर पुलिस ने आज मारे गए आतंकवादी की पहचान जैश-ए-मोहम्मद आतंकवादी संगठन के बाबर भाई के रूप में हुई है। पुलिस ने कहा मारा गया आतंकवादी शोपियां और कुलगाम जिलों में 2018 से आतंकवादी गतिविधियों में सक्रिय था। उसके पास से एक एके राइफल, एक पिस्तौल और दो ग्रेनेड बरामद हुए हैं।

पुलिस ने कहा मुठभेड़ कल शाम उस समय शुरू हुई जब पुलिस, सेना की 34 राष्ट्रीय राइफल्स और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल की 18वीं बटालियन की एक संयुक्त टीम ने कुलगाम के परिवान गांव में आतंकवादियों के खिलाफ घेराबंदी और तलाशी अभियान शुरू किया।

पुलिस अधिकारी ने कहा कि आतंकवादियों की छिपे होने की विशिष्ट जानकारी मिलने के आधार पर अभियान शुरू किया गया था। जैसे ही सुरक्षा बलों ने संदिग्ध स्थान की घेराबंदी की वहां छिपे हुए आतंकवादियों ने स्वचालित हथियार से अंधाधुंध गोलियां चलानी शुरू कर दीं। जिसमें एक पुलिसकर्मी और सेना के तीन जवान घायल हो गए। घायल सिलेक्शन ग्रेड कांस्टेबल रोहित छिब ने बाद में दम तोड़ दिया। घायल जवानों को सेना के श्रीनगर स्थित अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस साल अभी तक सात मुठभेड़ों में लश्कर-ए-तैयबा और जैश के शीर्ष कमांडरों सहित 14 आतंकवादी मारे गए हैं।

Related Articles

Back to top button
E-Paper