अरावली अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव का हुआ आगाज़, राज्य मंत्री ने कही ये बात

केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने कहा कि फिल्म एक ऐसा माध्यम है जो जीवन पर बहुत गहरा असर छोड़ता है। इसलिए अच्छे समाज के लिए अच्छी फिल्मों का होना भी बहुत जरूरी है। गुर्जन ने शनिवार को आईआईसीसी के सभागार में दो दिवसीय अरावली अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव के दूसरे संस्करण का उद्घाटन करते हुए कहा कि उनका मानना है कि भारत सहित दुनियाभर में अच्छी फिल्में बनती हैं लेकिन शायद उनको उतना प्रचार और सम्मान नहीं मिलता है। अरावली फ़िल्म फेस्टीवल इन अच्छी फिल्मों को ना केवल दुनिया के सामने लाने का काम कर रहा है बल्कि उनको मान सम्मान भी दे रही है।

इस दौरान माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ के.जी. सुरेश ने कहा कि फ़िल्मों को देखना ही नहीं समझना ज़रूरी है और इसके लिए फ़िल्म फेस्टिवल्स का आयोजन महत्वपूर्ण हैं। सुरेश ने कहा कि अरावली फ़िल्म फेस्टीवल ऐसे लोगों को प्रोत्साहित कर रही है जो अच्छी फिल्में बना रहे हैं।

अंतर्राष्ट्रीय फ़िल्म महोत्सव के डायरेक्टर डॉ अवनीश राजवंशी ने कहा कि वो पिछले कुछ वर्षों से यूरोप, अमेरिका, दक्षिण पूर्व एशिया और भारत में अंतर्राष्ट्रीय फिल्म समारोहों का आयोजन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय महोत्सव में से एक, द हेग ग्लोबल सिनेमा फेस्टिवल ने आईएमडीबी क्वालीफाइंग स्टेटस अर्जित किया है।

नई दिल्ली में डायलॉग इनिशिएटिव फ़ाउंडेशन और अवेकन जॉय क्रिएशन्स प्राइवेट लिमिटेड उनके सहयोगी हैं। उन्होंने कहा कि उनकी ज्यूरी पैनल में हॉलीवुड, हॉलैंड, यूके, जर्मनी, बॉलीवुड और अन्य भाग लेने वाले देशों की फिल्मी हस्तियां शामिल हैं। जिसमें 70 से अधिक देशों से 400 फ़िल्में स्पर्धा के लिए आई हैं। जिनमें से 32 सर्वश्रेष्ठ चयनित फिल्मों का प्रदर्शन दो दिन में किया जाएगा। इनमें ऑस्कर विजेता फ़िल्म भी शामिल हैं ।

इस आयोजन का एक ऑनलाइन संस्करण भी होगा, जो कि अमेरिका स्थित एक  कंपनी के माध्यम से अप्रैल 03 से 10 तक स्ट्रीम होगा।

उल्लेखनीय है कि इस समारोह के उद्घाटन सत्र में डायलॉग इनिशिएटिव फाउंडेशन के डायरेक्टर व वरिष्ठ पत्रकार डॉ राकेश योगी, मशहूर अभिनेता सुमित वत्स और निर्माता व निर्देशक रोहित खेतान सहित मुख्यमंत्री हरियाणा के मीडिया सलाहकार अमित आर्य मौजूद रहे।

Related Articles

Back to top button
E-Paper