कार्रवाई के बावजूद नहीं बदला एआरटीओ कार्यालय का रंग-ढंग

शाहजहांपुर। एआरटीओ कार्यालय पर पिछले दिनों छापामार कार्रवाई हुई थी जिसमें दर्जनों दलालों व लिपिको को जेल भेजा गया था। लेकिन इसके बावजूद अभी भी एआरटीओ कार्यालय पर लापरवाही बरती जा रही है, सुधार नाम की कोई चीज नजर नही आती है। यहां आम जनता की परेशानियां कम होने के बजाय और बढ़ गई है।

शहर से कई किलो मीटर दूर बने कार्यालय पर लोग जाते है और बेरंग ही वापस लौट आते है। बजह है कि एआरटीओ कार्यालय में बैठते ही नही है। उनके हस्ताक्षर के बिना कोई काम सम्भव नही है, जिससे लाइसेंस बनवाने बाले एवं गाड़ियों का ट्रांसफर कराने बालों को बहुत परेशानी उठानी पड़ती है।

अहम बात यह है कि एआरटीओ कार्यालय शहर से लगभग 15 किलोमीटर दूर नियामतपुर गांव में बनाया गया है जहां लोग बड़ी मुश्किल से पहुंच पाते है, जब वहां पहुंचते है तो कभी एआरटीओ नदारत तो कभी लिपिक नदारत रहते है जिससे आम जनता को बार बार कार्यालय के चक्कर काटने पड़ते है। इस सम्बंध में एआरटीओ प्रशासन से बात करनी चाही तो उनका सीयूजी नम्बर स्विच ऑफ बता रहा था।

Related Articles

Back to top button
E-Paper