जनता योगी को घर भेजती, इसके पहले ही भाजपा ने उन्हें घर भेज दिया : अखिलेश यादव

समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को उनके गृह जनपद गोरखपुर से उम्मीदवार बनाये जाने पर कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने चुनाव से पहले ही योगी को घर भेज दिया। इसके लिये उन्होंने भाजपा को धन्यवाद भी दिया।
अखिलेश ने शनिवार को संवाददाता सम्मेलन में कहा कि योगी जी को जनता घर वापस भेजती इसके पहले ही भाजपा ने उन्हें घर वापस भेज दिया है। उन्होंने कहा, “मुझे खुशी है की पार्टी ने उन्हें सीधे उनके घर भेज दिया। पहले उन्हें अयोध्या फिर मथुरा से लड़वाने की बात कही गयी। योगी जी भाजपा के सदस्य नहीं हैं इसलिए उन्हें घर भेज दिया गया। इसके लिये हम भाजपा को धन्यवाद देते हैं।”
सपा के उम्मीदवारों की सूची के सवाल पर अखिलेश ने कहा कि, “हो सकता है कि टिकट की सूची न आये। उम्मीदवारों को सीधे फ़ॉर्म ए और बी दे दिया जाये। क्योंकि कोरोना का खतरा है।” हालांकि बाद में उन्होंने यह भी कहा कि वह जल्द ही उम्मीदवारों की सूची और प्रगतिशील घोषणापत्र जारी करेंगे। महिला उम्मीदवारों की संख्या के सवाल पर उन्होंने कहा कि जहां कोई महिला उम्मीदवार जीतने की स्थिति में होगी वहां उसे टिकट दिया जायेगा। उन्होंने कहा, “हम हारने के लिये किसी को प्रत्याशी नहीं बनायेंगे।”
दूसरे दलों के विधायकों को सपा में शामिल करने के सवाल पर अखिलेश ने कहा, “मैं भाजपा से कहना चाहता हूं कि मैं, भाजपा के किसी भी विधायक को सपा में नहीं लूंगा। भाजपा जिस विधायक का भी टिकट काटना चाहे काट दे।” सपा की सरकार बनने पर उपमुख्यमंत्री का पद किसे देने के सवाल पर उन्होंने कहा कि “डिप्टी सीएम जैसा कोई पद नहीं है।”

शुक्रवार को सपा कार्यालय में वर्चुअल रैली की जगह भीड़ एकत्र होने के कारण चुनाव आयोग द्वारा की गयी कार्रवाई के बारे में प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुये अखिलेश ने कहा कि पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं से अपील है कि वे चुनाव आयोग के सभी निर्देशों का पालन करें। उन्होंने कहा, “आज हमारे पार्टी कार्यालय में नोटिस चिपका दिया गया है। मैं सपा के सभी कार्यकर्ताओं से अपील कर रहा हूं कि घर में रहें, अपने विधानसभा में रहे, कोविड प्रोटोकॉल का पालन करें।”

Related Articles

Back to top button
E-Paper