बंगाल : सिख शख्स के साथ धक्का-मुक्की और पगड़ी खींचे जाने के बाद मचा कोहराम

सिख शख्स

कोलकाता में बीजेपी के प्रदर्शन के दौरान पुलिस द्वारा एक सिख शख्स को जबरन हिरासत में लिए जाने का दृश्य सामने आने के बाद कोहराम मच गया है। घटना हावड़ा मैदान इलाके की है। बीजेपी का आरोप है कि कोलकाता पुलिस ने बठिंडा के रहने वाले 43 वर्षीय सिख शख्स बलविंदर सिंह की पगड़ी खींच कर धार्मिक भावनाओं को आहत किया है।

इस विवाद ने सोशल मीडिया पर भी तूल पकड़ लिया है, यहां तक कि क्रिकेटर हरभजन सिंह ने भी मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को टैक करते हुए ट्वीट किया। बलविंदर सिंह के पास से 9 एमम की एक पिस्तौल भी जब्त की गई। बलविंदर सिंह भारतीय सेना का एक पूर्व सैनिक है जो कि राष्ट्रीय राइफल्स बटालियान में अपनी सेवाएं दे चुके हैं।

हालांकि हावड़ा पुलिस के हवाले से कहा गया कि जानबूझ कर पगड़ी खींचे जाने का कोई इरादा नहीं था। लेकिन पुलिस के साथ बलविंदर सिंह की झड़प का वीडियो शुक्रवार को वायरल हो गया –  जिसमें दिख रहा है कि उनकी पगड़ी खींची गई और उनके जमीन पर गिर जाने के बाद भी पुलिस उन्हें पीटती रही। इसके बाद हंगामा हो गया।

पश्चिम बंगाल में बीजेपी के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने ट्वीट कर कहा कि सुरक्षाकर्मी बलविंदर सिंह को पश्चिम बंगाल पुलिस ने सड़क पर पीटा और उसकी पगड़ी को अपमानित किया, वो सक्षम जवान है! उसने कई सैन्य कोर्स भी किए हैं! ममता राज में ऐसे जांबाज का अपमान दु:खद है. ऐसे पुलिसवालों को सजा दी जाना चाहिए!

बता दें कि गुरुवार को कोरोन से बचने के तमाम उपायों और सोशल डिस्टेंसिंग को दरकिनार करते हुए बंगाल सरकार के सचिवालय ‘नाबन्ना’ के बाहर सैकड़ों की संख्या में बीजेपी प्रदर्शनकारियों की पुलिस से झड़प हो गई। वीडियो फुटेज में देखा जा सकता है कि पुलिस दंगारोधी वर्दी में है और आंसू गैस तथा वॉटर कैनन की मदद से पत्थर भेंकती भीड़ को तितर बितर करने की कोशिश कर रही है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper