आम से खास तक सभी के लिए नए साल में बदल रहे ये नियम, आप भी जानिए

पैसे

व्हाट्सएप, गाड़ियों की कीमत फास्टैग भी इसी दायरे में आ जाएंगे

नई दिल्ली: आम से लेकर खास आदमी तक के जीवन में 2021 की पहली तारीख से बहुत कुछ बदलने वाला है। इनमें इंश्योरेंस, चेक पेमेंट, कॉलिंग, व्हाट्सएप, गाड़ियों की कीमत फास्टैग, जीएसटी, गैस सिलिंडर आदि शामिल हैं। आगामी वर्ष से बदल रहे इन नियमों को नजरअंदाज करने पर आपको नुकसान भी उठाना पड़ सकता है।

जीएसटी रिटर्न जमा करने का तरीका बदल जाएगा

केंद्र सरकार माल एवं सेवा कर (जीएसटी) प्रणाली के तहत छोटे करदाताओं के लिए तिमाही रिटर्न दाखिल करने और करों के मासिक भुगतान (क्यूआरएमपी) की योजना शुरू की है। ऐसे करदाता जिनका पिछले वित्त वर्ष में वार्षिक कारोबार पांच करोड़ रुपये तक रहा है और जिन्होंने अपना अक्टूबर का जीएसटीआर-3बी (बिक्री) रिटर्न 30 नवम्बर, 2020 तक जमा कर दिया है, इस योजना के पात्र होंगे।

अनिवार्य होगा फास्टैग

केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने एक जनवरी 2021 से सभी चार पहिया वाहनों के लिए फास्टैग को अनिवार्य कर दिया है। डिजिटलाइजेशन को बढ़ावा देने के लिए केंद्र सरकार देश के सभी टोल प्लाजा पर नकद लेन-देन को पूरी तरह से खत्म कर रही है ।

बदल जाएगा चेक से पेमेंट का तरीका

पॉजिटिव पे सिस्टम एक स्वचालित टूल है जो चेक के जरिये धोखाधड़ी करने पर लगाम लगाएगा। इसके तहत जो व्यक्ति चेक जारी करेगा, उन्हें इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से चेक की तारीख, लाभार्थी का नाम, प्राप्तकर्ता और पेमेंट की रकम के बारे में दोबारा जानकारी देनी होगी। चेक जारी करने वाला व्यक्ति यह जानकरी एसएमएस, मोबाइल एप, इंटरनेट बैंकिंग या एटीएम जैसे इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से दे सकता है। इसके बाद चेक पेमेंट से पहले इन जानकारियों को क्रॉस-चेक किया जाएगा। अगर इसमें कोई गड़बड़ी पाई जाएगी चेक से भुगतान नहीं किया जाएगा और संबंधित बैंक शाखा को इसकी जानकरी दी जाएगी। बैंक 50,000 रुपये और उससे ऊपर के सभी भुगतान के मामले में खाताधारकों के लिए नया नियम लागू करेंगी।

बढ़ेगी कॉन्टैक्टलेस कार्ड से लेनदेन की लिमिट

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) एटीएम कार्ड और यूपीआई से कॉन्टैक्टलेस लेनदेन के नियमों बदलाव करने जा रही है। आरबीआई यूपीआई से कॉन्टैक्टलेस लेन-देन की सीमा को 2000 रुपये से बढ़ाकर 5000 रुपये करने वाली है और ये सुविधा एक जनवरी से लागू होगी।

सिलेंडर की कीमतों में होगा बदलाव

तेल कंपनियां हर महीने की पहली तारीख को एलपीजी सिलेंडर की कीमतें तय करती है। यानी, 1 जनवरी से सिलेंडर की कीमतों में बदलाव होगा। हालांकि, इस बार 01 दिसम्बर को कीमतें बढ़ाने की जगह तेल कंपनियों ने तीन दिसम्बर को दाम बढ़ाए। अब तक दिसम्बर में दो बार रसोई गैस की कीमतें बढ़ चुकी हैं। कंपनियों ने इस महीने सिलेंडर की कीमतों में कुल 100 की बढ़ोत्तरी कर चुकी हैं। अब ये देखना होगा कि नए साल में तेल कंपनियां सिलेंडर की कीमत बढ़ाती है या नहीं।

लैंडलाइन से मोबाइल पर कॉल करने से पहले लगाना होगा शून्य

देशभर में लैंडलाइन से मोबाइल फोन पर कॉल करने के लिए ग्राहकों को एक जनवरी से नंबर से पहले शून्य लगाना अनिवार्य होगा। दूरसंचार नियामक ट्राई के प्रस्तावों को टेलिकॉम विभाग ने स्वीकार कर लिया है। इससे टेलिकॉम कंपनियों को अधिक नंबर बनाने की सुविधा मिलेगी।

इन मोबाइल पर काम नहीं करेगा व्हाट्सएप

नए साल से एंड्रॉयड 4.3 और आईओएस-9 (iOS 9) से पुराने ऑपरेटिंग सिस्टम वाले स्मार्टफोंस में व्हाट्सएप चलना बंद हो जाएगा। व्हाट्सएप हर साल आउटडेटेड आईओएस और एंड्रॉयड स्मार्टफोन को सपोर्ट करना बंद कर देता है। जो ग्राहक पुराना ऑपरेटिंग सिस्टम इस्तेमाल कर रहे हैं, उनके लिए जरूरी है कि वह अपना फोन अपग्रेड कर लें।

महंगी हो जाएंगी गाड़ियां

अगले महीने से कई कार कंपनियां अपनी गाड़ियों की कीमतों में बढ़ावा करने वाली है। स्टील, एल्युमिनियम और प्लास्टिक की कॉस्ट बढ़ने के कारण कंपनियां दाम बढ़ाने जा रही हैं। दाम बढ़ाने वाली कंपनियों में एमजी मोटर्स, रेनो, स्कोड़ा ऑटो आदि शामिल है।

पीएफ  पर ब्याज

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) वित्त वर्ष 2019-20 के लिए करीब छह करोड़ अंशधारकों के कर्मचारी भविष्य निधि (ईपीएफ) खातों में अगले सात दिन यानी 31 दिसम्बर तक एकमुश्त 8.5 प्रतिशत का ब्याज डालेगा। ऐसे में अंशधारकों के खातों में ब्याज इसी महीने 1 जनवरी से पहले डाला जाएगा।

महंगी होगी टीवी, फ्रिज वाशिंग मशीन

नए साल 2021 में एलईडी टीवी, फ्रिज, वॉशिंग मशीन और दूसरे कुछ होम अप्लायंसेस की कीमतें 10 प्रतिशत तक बढ़ सकती हैं। इसकी मुख्य वजह कॉपर, एल्यूमिनियम और स्टील की कीमतों में वृद्धि होना है। इसके अलावा, समुद्री और हवाई माल भाड़े में भी बढ़ोत्तरी हुई है।

एक जनवरी से कम प्रीमियम पर मिलेगी टर्म प्लान पॉलिसी

नए साल यानी 1 जनवरी-2021 से आप कम प्रीमियम में सरल जीवन बीमा (स्टैंडर्ड टर्म प्लान) पॉलिसी खरीद सकेंगे। भारतीय बीमा विनियामक इरडा ने बीमा कंपनियों को आरोग्य संजीवनी नामक स्टैंडर्ड रेग्युलर हेल्थ इंश्योरेंस प्लान पेश करने के बाद एक स्टैंडर्ड टर्म लाइफ इंश्योरेंस पेश करने का निर्देश दिया था। उसी निर्देश को पालन करते हुए बीमा कंपनियां 01 जनवरी-2021 से सरल जीवन बीमा पॉलिसी लॉन्च करने जा रही हैं।

Related Articles

Back to top button
E-Paper