बिहार : दूसरे चरण का मतदान संपन्न, 1,463 प्रत्याशियों की किस्मत ईवीएम में कैद

बिहार विधानसभा चुनाव

बिहार विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण में 17 जिलों के 94 विधानसभा क्षेत्रों में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच मतदान संपन्न हो गया। मतदान के लिए सुरक्षा की चाक-चैबंद व्यवस्था की गई थी। शाम पांच बजे तक के मिले आंकड़ों के मुताबिक करीब 51.80 प्रतिशत मतदाताओं अपने मताधिकार का प्रयोग किया।

दूसरे चरण में राज्य के 17 जिलों के 94 विधानसभा क्षेत्रों में वोट डाले गए। राज्य निर्वाचन आयोग के अनुसार, प्रथम चरण में 2.85 करोड़ मतदाताओं के लिए 41,362  मतदान केंद्र बनाए गए थे। दूसरे चरण में 1,463 प्रत्याशी चुनावी मैदान में है, इनमें से 1316 पुरूष, 146 महिला और एक थर्ड जेंडर शामिल है।

इस चरण के चुनाव में महाराजगंज विधानसभा क्षेत्र में सबसे अधिक 27 प्रत्याशी हैं जबकि दरौली विधानसभा क्षेत्र में सबसे कम चार प्रत्याशी चुनावी मैदान में हैं। राज्य निर्वाचन आयोग के मुताबिक, छह बजे तक के आंकड़े अब तक नहीं आए हैं। हालांकि पांच बजे तक 51.80 प्रतिशत मतादाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया है।

राज्य निर्वाचन आयेाग के अनुसार, सुबह मतदान केंद्र पर मतदाताओं की संख्या कम थी, बाद में दिन चढ़ने के बाद मतदाताओं की संख्या बढ़ने लगी। प्रारंभ में कुछ मतदान केंद्रों पर ईवीएम खराब होने की सूचना मिली थी, जिसे बाद में तुरंत दुरूस्त कर दिया गया।

इस चरण के चुनाव में मतदाताओं ने राजद के नेता तेजस्वी यादव, राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद के पुत्र और तेजस्वी के भाई तेजप्रताप यादव, पटना साहिब के सांसद रहे और अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा के पुत्र लव सिन्हा के राजनीतिक भविष्य दांव पर लगे हुए हैं।

इसके अलावा इस चरण में मतदाताओं ने प्लुरल्स पार्टी की अध्यक्ष पुष्पम प्रिया चौधरी के सियासी भविष्य का फैसला ईवीएम में कैद हो गया है। इस चरण में पटना साहिब से पथ निर्माण मंत्री नंदकिशेर यादव, मधुबनी से सहकारिता मंत्री रंधीर सिंह, नालंदा से ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार का भी राजनीतिक भविष्य दांव पर है।

इस चरण में राजद के 56 तो जदयू के 43 उम्मीदवारों के अलावा भाजपा के 46, कांग्रेस के 24, सीपीआई के चार, सीपीएम के चार, लोकजनशक्ति पार्टी (लोजपा) के 52 तथा रालोसपा के 36 प्रत्याशी चुनावी मैदान में हैं।

बिहार के चुनावी दंगल में राजग से सीधी टक्कर विपक्षी दल के महागठबंधन से मानी जा रही है। भाजपा के नेतृत्व वाले राजग में जदयू, हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा, विकासशील इंसान पार्टी शामिल हैं, जबकि केंद्र में राजग की सहयोगी लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) यहां अलग होकर चुनाव मैदान में है। महागठबंधन में राजद, कांग्रेस और वामपंथी दल शामिल हैं।

बिहार में विधानसभा की 243 सीटों के लिए तीन चरणों में चुनाव होना है। इसके तहत प्रथम चरण के लिए 28 अक्टूबर को 71 सीटों पर मतदान हो चुका है। तीसरे चरण के लिए सात नवंबर को 78 सीटों के लिए मतदान होगा। वोटों की गिनती 10 नवंबर को होगी। 

Related Articles

Back to top button
E-Paper