बीजेपी ने जेईई और नीट पर कांग्रेस को घेरा, लगाया दोहरे खेल खेलने का आरोप

नई दिल्ली। कोरोना काल में जेईई और नीट परीक्षा का विरोध कर रही कांग्रेस पर बीजेपी हमलावर हो गई है। बीजेपी ने कांग्रेस पर दोहरा रवैया अपनाने का आरोप लगाया है। पार्टी ने कहा है कि एक तरफ कांग्रेस जेईई और नीट परीक्षाओं के आयोजन का विरोध कर रही है, तो दूसरी तरफ राजस्थान में उसकी ही सरकार कुछ परीक्षाएं करा रही है। बीजेपी ने सवाल उठाते हुए कहा है, क्या कांग्रेस छात्रों का एक साल खराब करना चाहती है?

बीजेपी

दरअसल, राजस्थान की राज्य सरकार 31 अगस्त को प्री-डीएलएड परीक्षा का आयोजन कर रही है। कुल 3656 केंद्रों पर होने वाली इस परीक्षा में  6 लाख 69 हजार 613 अभ्यर्थियों के हिस्सा लेने की संभावना है। इतना ही नहीं, 20 सितंबर से 27 सितम्बर तक आरपीएससी की ओर से असिसटेंट कंजर्वेटिव फोरेस्ट ऑफिसर और फोरेस्ट रेंज ऑफिसर के 200 पदों पर भी परीक्षा आयोजित करने की तैयारी है।  इस परीक्षा में एक लाख से अधिक अभ्यर्थियों के भाग लेने की संभावना है। इससे पूर्व जून में राजस्थान बोर्ड की बची हुई परीक्षाओं का भी आयोजन हुआ था।

राजस्थान से राज्यसभा सांसद और भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव भूपेंद्र यादव का मानना है कि कांग्रेस परीक्षा के मसले पर राजनीति कर छात्रों के भविष्य से खिलावाड़ करने की कोशिश कर रही है। उन्होंने एक बयान में कहा कि छात्रों के भविष्य से बेफिक्र कांग्रेस अपनी सतही राजनीति के लिए जेईई और नीट का विरोध कर रही है। वहीं दूसरी तरफ राजस्थान की कांग्रेस सरकार 31 अगस्त को प्रतियोगी परीक्षा का आयोजन कर रही है। यह कांग्रेस की कथनी और करनी में बड़ा फर्क है।

बता दें कि विपक्ष के विरोध के बावजूद केंद्र सरकार ने सितंबर में होने वाली जेईई और नीट परीक्षा को न टालने का फैसला किया है। केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक भी कह चुके हैं कि अधिकांश छात्रों ने एडमिड कार्ड डाउनलोड कर लिया है। इससे पता चलता है कि छात्र चाहते हैं कि हर हाल में परीक्षा हो। कोरोना के कारण परीक्षा केंद्रों पर सभी तरह की सावधानियां होंगी। एनटीए ने छात्रों की सुविधा के लिए परीक्षा केंद्र भी बढ़ाए हैं। 90 प्रतिशत छात्रों को चुनी गई वरीयता के आधार पर परीक्षा केंद्र दिया गया है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper