रायपुर: भाजपा का ऐलान, 22 जनवरी को करेंगे कलेक्ट्रेट का घेराव

कलेक्ट्रेट का घेराव

रायपुर: पूर्व कृषि मंत्री एवं विधायक बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा किसानों के साथ किए जा रहे छलावे के विरोध में भाजपा सदन से लेकर सड़क तक की लड़ाई लड़ रही है। इसी कड़ी में 22 जनवरी को प्रदेश के सभी जिलों में भाजपा कलेक्ट्रेट का घेराव करेगी। घेराव से रोका गया तो गिरफ्तारी भी दी जाएगी। अग्रवाल ने आरोप लगाया कि पूरे प्रदेश में कानून व्यवस्था ध्वस्त नज़र आ रही है। राजधानी में पुलिस को उनके मूल कामों के बजाय राजनीतिक कामों में लगा दिया गया है।

भोपाल में सिंधिया को मिला नया ठिकाना, इन दिग्गज नेताओं के बने पड़ोसी

एकात्म परिसर में बुधवार को मीडिया से बातचीत करते हुए बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि राजधानी रायपुर में भाजपा की शहर एवं ग्रामीण दोनों कमेटियां मिलकर धरना प्रदर्शन करेंगी। इस प्रदेशव्यापी आंदोलन में भाजपा राष्ट्रीय महामंत्री एवं प्रदेश प्रभारी  पुरूंदेश्वरी एवं पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह अग्रणी भूमिका निभाएंगे। बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि कांग्रेस नेताओं द्वारा धान खरीदी को लेकर भाजपा के लोगों पर लगाए जा रहे आरोप निराधार हैं। सच्चाई यह है कि भाजपा से ज्यादा कांग्रेस के लोगों ने धान बेचने का काम किया है।

यहां तक कि कांग्रेस के लोगों ने बाजार से खरीदकर धान बेचा है। प्रदेश में 1300 करोड़ का धान रखे-रखे सड़ गया। इसके लिए जो लोग जिम्मेदार हैं, उनके खिलाफ आपराधिक प्रकरण दर्ज होना चाहिए। किसानों को बारदाने खरीदने 7 से 15 रुपये तक ही दिया जा रहा है, जबकि उन्हें खरीदी 30 से 50 रुपये में करनी पड़ रही है। कभी छत्तीसगढ़ धान का कटोरा कहलाता था। यह हक पंजाब ने छीन लिया। किसान एक तरह से यहां की लाइफ लाइन हैं। अभी के हालात में विषय किसान को छोड़कर कहीं और केन्द्रित नहीं हो सकता।

बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि कांग्रेस के सत्ता में आने के बाद राजधानी रायपुर समेत पूरे प्रदेश में अपराधिक घटनाएं बढ़ गई हैं। मुख्यमंत्री का क्षेत्र तक इससे अछूता नहीं है। राजधानी रापुर में पुलिस को कानून व्यवस्था सम्हालने के बजाय राजनीतिक कामों में लगा दिया गया है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper