बीजेपी के राज्‍यसभा सांसद अभय भारद्वाज का निधन, एक महीने पहले हुए थे कोरोना संक्रमित

अभय भारद्वाज

नई दिल्‍ली। गुजरात से राज्यसभा सांसद अभय भारद्वाज का चेन्नई के एक अस्पताल में आज निधन हो गया। उनकी कोरोना रिपोर्ट पॉजि‍‍टिव आने के बाद फेफड़ों की समस्याओं के चलते उन्हें राजकोट से चेन्नई स्थानांतरित कि‍या गया था। वे 66 वर्ष के थे। भारद्वाज के निधन पर प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने भी शोक व्‍यक्‍त कि‍या।

मंगलवार को भाजपा नेता नितिन भाई भारद्वाज ने बताया कि कोरोना संक्रमि‍त होने के बाद राज्यसभा सांसद अभय भारद्वाज का राजकोट के विशेष डॉक्टरों की देखरेख में इलाज चल रहा था। उनके स्वास्थ्य में सुधार नहीं होने उन्हें चेन्नई स्थानांतरित कर दिया गया। लेकिन आज भारद्वाज ने अस्पताल में अंतिम सांस ली।

राज्यसभा सांसद भारद्वाज के निधन की खबर के बाद प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने आज ट्वीट कर अभय भारद्वाज को श्रद्धांजलि दी है। उन्‍होंने लिखा, “गुजरात राज्यसभा सांसद अभय भारद्वाजजी एक प्रतिष्ठित वकील थे और समाज की सेवा करने में सबसे आगे थे। यह दुखद है कि हमने एक प्रतिभाशाली और बुद्धिमान व्यक्ति को खो दिया है। राष्ट्रीय विकास के प्रति जुनून। उनके परिवार और दोस्तों के प्रति संवेदना।

बता दें कि अभय भारद्वाज गोधरा कांड के बाद भड़के दंगों के गुलबर्ग सोसाइटी प्रकरण में गुजरात सरकार की ओर से विशेष लोक अभियोजक (एसपीपी) थे। इसके अलावा वे सुत्रापाडा अवैध खनन मामले और सेवानिवृत्त आईएएस अधिकारी प्रदीप शर्मा के खिलाफ मामले में भी विशेष लोक अभियोजक की भूमिका निभा चुके हैं।

2 अप्रेल 1954 को भारद्वाज का जन्म अफ्रीका के युगांडा में हुआ था। वर्ष 1969 में युगांडा में गृह युद्ध के कारण उनके परिवार को युगांडा छोड़कर राजकोट आना पड़ा था। राजकोट में रहने वाले भारद्वाज के पिता जनसंघ से जुड़े रहे हैं।

Related Articles

Back to top button
E-Paper