मध्यप्रदेश विधानसभा का बजट सत्र शुरू, गिरीश गौतम निर्विरोध चुने गए अध्यक्ष

विधानसभा

मध्यप्रदेश विधानसभा का बजट सत्र सोमवार को शुरू हुआ। इस दौरान सामयिक अध्यक्ष (प्रोटेम स्पीकर) रामेश्वर शर्मा ने विधानसभा अध्यक्ष के चुनाव की प्रक्रिया शुरू कराई। रीवा जिले के देवतालाब विधानसभा क्षेत्र से चार बार के भाजपा विधायक गिरीश गौतम को निर्विरोध विधानसभा अध्यक्ष चुना गया। अध्यक्ष पद के चुनाव के दौरान मान्य परंपराओं का पालन किया गया। अध्यक्ष का चुनाव होने के बाद राज्यपाल आनंदीबेन पटेल का अभिभाषण होगा।

मध्यप्रदेश विधानसभा के बजट सत्र की सोमवार सुबह 11 बजे शुरुआत हुई। सामयिक अध्यक्ष रामेश्वर शर्मा ने कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए सावधानी बरतने की जरूरत बताई। उन्होंने संक्रमण से बचाव के लिए विधायकों के लिए की गई व्यवस्थाओं की जानकारी दी। साथ ही आग्रह किया कि सभी सदस्य दिशानिर्देशों का पालन करें। सदन के नेता मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने वरिष्ठ विधायक गिरीश गौतम को विधानसभा का अध्यक्ष निर्वाचित किए जाने का प्रस्ताव रखा। संसदीय कार्य मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने उसका समर्थन किया।

लखनऊ : विधानसभा के सामने आत्महत्या रोकने को खुला पुलिस बूथ

गिरीश गौतम को अध्यक्ष बनाने के लिए कुल 11 प्रस्ताव प्रस्तुत किए गए। नेता प्रतिपक्ष कमल नाथ ने निर्विरोध निर्वाचन का प्रस्ताव रखा, डॉक्टर गोविंद सिंह ने उनका समर्थन किया, प्रस्ताव सर्वसम्मति से पारित हुआ। विधानसभा के सामयिक अध्यक्ष रामेश्वर शर्मा ने गिरीश गौतम के निर्विरोध निर्वाचन की घोषणा की। इसके बाद सदन के नेता मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और नेता प्रतिपक्ष कमल नाथ उन्हें आसंदी अभिवादन किया।

गौरतलब है कि मप्र विधानसभा में अध्यक्ष का पद 17 साल बाद विंध्य के हिस्से में आया है। इसके पहले श्रीनिवास तिवारी 24 दिसम्बर 1993 से 11 दिसंबर 2003 तक विधानसभा अध्यक्ष रह चुके हैं। गिरीश गौतम 1972 से छात्र राजनीति में सक्रिय रहे हैं। वे 1977 से लगातार किसान और श्रमिकों के लिए संघर्ष करते रहे। वर्ष 2003 में पहली बार विधायक बने। वर्ष 2008, 2013 और चौथी बार 2018 में विधायक बने। वे 2015 से 2018 तक विधानसभा की प्राक्कलन समिति के सभापति रहे। वे विधानसभा की लोक लेखा सहित विभिन्न समितियों के सदस्य रहे हैं।

Related Articles

Back to top button
E-Paper