मुख्यमंत्री का फर्जी बयान वायरल करने वाले के खिलाफ मुकदमा दर्ज

मुख्यमंत्री

लखनऊ। हाथरस मामले को लेकर सोशल मीडिया पर मुख्यमंत्री का एक फर्जी बयान पोस्ट किया गया था इस बयान के बाद उनकी फोटो भी लगाई गयी थी। इस मामले में रविवार की देर शाम को हजरतगंज थाने में अफवाह फैलाने, जालसाजी, कूट रचना करने सहित कई संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज हुआ है।

कोतवाली प्रभारी के मुताबिक सोशल मीडिया में एक फोटो वायरल हो रही है, इसमें एक बड़े चैनल का लोगो लगा हुआ है। जिसमें एक जाति विशेष पर टिप्पणी की गई है। इसमें मुख्यमंत्री जी की फोटो भी लगी हुई है। इस मामले में जब चैनल के हेड से बात की हुई उन्होंने यह कहा कि ऐसी कोई खबर प्रसारित नहीं की गयी है। यहां पूरी तरह से फर्जी खबर है। इसके बाद हजरतगंज कोतवाली में नरही चौकी इंचार्ज भूपेंद्र सिंह की तहरीर अफवाह फैलाने, धोखाधड़ी, मुख्यमंत्री के तस्वीर का गलत प्रयोग, आईटी एक्ट और कॉपीराइट एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

गौरतलब है कि हाथरस प्रकरण के बहाने प्रदेश सरकार को बदनाम करने की एक बड़ी साजिश रची गयी है। जांच एजेंसियों को इसके अहम सुराग मिले हैं। सूत्रों की माने तो एक मिले ऑडियो टेप से खुलासा हुआ है कि एक महिला पत्रकार ने मुख्यमंत्री से पीड़ित परिवार की बातचीत के तुरंत बाद परिवार को भड़काया, कहा ‘अगर  मुख्यमंत्री की बात मान ली तो पुलिस उल्टे तुम्हें ही साबित कर देगी अपराधी’। इस बातचीत के बाद परिवार दहशत में आया है। सूत्रों की मानें तो जांच एजेंसियां ऑडियो टेप की फोरेंसिक जांच रिपोर्ट आते ही भड़काने वालों का पालीग्राफ और नार्को टेस्ट की तैयारी में हैं।

Related Articles

Back to top button
E-Paper