सीबीएसई की 12वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाएं रद्द, पक्ष-विपक्ष ने स्वागत किया

सीबीएसई ने 12वीं प्रस्तावित बोर्ड परीक्षाओं को रद्द कर दिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में कोविड की वजह से पैदा हुए हालात को देखते हुए यह फैसला किया गया कि इस वर्ष 12वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाएं नहीं कराई जाएंगी। प्रधानमंत्री ने कहा कि कोविड-19 से अकादमिक कैलेंडर पर बहुत असर पड़ा है और बोर्ड परीक्षा का मुद्दा विद्यार्थियों, अभिभावकों व शिक्षकों के बीच चिंता पैदा करता रहा है, जिसे खत्म करना जरूरी था। उन्होंने कहा कि मौजूदा तनावपूर्ण स्थिति में छात्रों को परीक्षाओं में बैठने के लिए बाध्य नहीं किया जाना चाहिए।

सीबीएसई की 12वीं परीक्षा रद्द करने के फैसले का उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने स्वागत किया है। उत्तर प्रदेश में 12वीं की परीक्षा कराने के सवाल पर उन्होंने कहा कि इसे जुलाई में कराने की योजना है, जिस पर दोबारा विचार किया जाएगा। महाराष्ट्र की शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ ने भी इस फैसले का स्वागत किया है। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र बोर्ड की 12वीं की परीक्षा कराने के बारे में जल्द फैसला लिया जाएगा।

कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी ने 12वीं की परीक्षा रद्द करने के फैसले का स्वागत किया है. वे इसके लिए लगातार आवाज उठा रही थीं। 31 मई को भी शिक्षा मंत्री को चिट्ठी लिखकर कोविड-19 के खतरे को देखते हुए परीक्षा टालने की मांग की थी। सरकार फैसला आने के बाद उन्होंने ट्विटर पर लिखा, ‘12वीं के छात्रों को बधाई, अपनी आवाज को सुना ले जाने के लिए. अनिश्चितता और दबाव के बाद, आज आप आराम करने और खुशी मनाने के अधिकारी हैं। खुशहाल, स्वस्थ और उज्ज्वल भविष्य के लिए शुभकामनाएं।’

Related Articles

Back to top button
E-Paper