बंगालः ममता की कम नहीं हो रही हैं मुश्किलें, अब पुरोहित भत्ते में भ्रष्टाचार का आरोप

ममता बनर्जी

कोलकाता:  पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ पार्टी पर एक के बाद एक भ्रष्टाचार के लग रहे आरोपों के बीच एक और मुश्किल सामने आई है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने विधानसभा चुनाव से पहले अपनी हिंदू विरोधी छवि सुधारने के लिए राज्य के पुरोहितों को भत्ता देने का आश्वासन दिया था। अब आरोप लग रहे हैं कि भत्ता वितरण में भी व्यापक भ्रष्टाचार हुआ। पुरोहितों के भत्ता के नाम पर केवल सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ताओं के खाते में रुपये ट्रांसफर किए गए।

बंगाल: ममता ने पदयात्रा कर दिखाई ताकत, भाजपा पर तीखा हमला

भारतीय जनता पार्टी ने इसे लेकर बंगाल सरकार को घेरने की तैयारियां शुरू कर दी है। मालदा में पुरोहितों ने एकदिन पहले ही विरोध प्रदर्शन किया था। उनका कहना था कि फॉर्म भरने के बावजूद भत्ता मिल नहीं रहा। संबंधित विभाग से संपर्क करने पर कहा जा रहा है कि स्थानीय तृणमूल नेता के पास जाइए और पार्टी ज्वाइन करिए। इसके बाद नाराज पुरोहितों ने मालदा जिला अधिकारी के पास शिकायत दर्ज कराई है।

मालदा के जिलाधिकारी ने बताया है कि भत्ता वितरण में भ्रष्टाचार की शिकायत मिली है। इसकी जांच होगी। मालदा जिला के भाजपा नेता भूपेश अग्रवाल ने कहा कि ममता बनर्जी की पूरी सरकार चीटिंगबाजों की सरकार है।

पश्चिम बंगाल में टीएमसी पार्टी पर एक के बाद एक भ्रष्टाचार के लग रहे हैं। ऐसे में आरोपों के बीच ममता के सामने एक और मुश्किल आ गई है। आपको बता दें कि बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने विधानसभा चुनाव से पहले अपनी हिंदू विरोधी छवि सुधारने के लिए राज्य के पुरोहितों को भत्ता देने का आश्वासन दिया था। लेकिन अब आरोप लग रहे हैं कि भत्ता वितरण में भी व्यापक भ्रष्टाचार हुआ। पुरोहितों के भत्ता के नाम पर केवल सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ताओं के खाते में रुपये ट्रांसफर किए गए। तो वहीं मालदा जिले के बीजेपी नेता भूपेश अग्रवाल ने कहा कि ममता बनर्जी की पूरी सरकार चीटिंगबाजों की सरकार है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper