छत्तीसगढ़: सीएम बघेल के निर्देश पर सूरजपुर के डीएम हटाए गए, सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था वीडियो

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश के बाद सूरजपुर के जिलाधिकारी रणबीर शर्मा को तत्काल प्रभाव से हटा दिया गया है। मुख्यमंत्री बघेल ने ट्विटर पर लिखा, ‘सोशल मीडिया के माध्यम से सूरजपुर कलेक्टर रणबीर शर्मा द्वारा एक नवयुवक से दुर्व्यवहार का मामला मेरे संज्ञान में आया है। यह बेहद दुखद और निंदनीय है। छत्तीसगढ़ में इस तरह का कोई कृत्य कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। कलेक्टर रणबीर शर्मा को तत्काल प्रभाव से हटाने के निर्देश दिए हैं।’

दरअसल, शनिवार को एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था, जिसमें सूरजपुर के जिलाधिकारी रणबीर शर्मा एक युवक का मोबाइल सड़क पर पटकते और उसे थप्पड़ मारते देखे जा रहे थे। जिलाधिकारी लॉकडाउन में युवक के बाहर निकलने से नाराज थे, जबकि युवक का कहना था कि वह जरूरी जांच कराने के लिए बाहर निकला है। इसी वीडियो के आधार पर सीएम भूपेश बघेल ने जिलाधिकारी को हटाने का निर्देश दिया है। इसके अलावा पीड़ित युवक को नया मोबाइल भी उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है.

आईएएस रणबीर शर्मा ने इस मामले में माफी मांगी थी। उनका कहना था कि उनकी मंशा लोगों को कोविड से बचाना था, न कि उनका अपमान करना। लेकिन उनकी यह सफाई काम नहीं आई। मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद उनका तबादला सचिवालय में कर दिया है। उनकी जगह पर रायपुर जिला पंचायत के सीईओ गौरव सिंह को सूरजपुर का जिलाधिकारी बनाया गया है।

इस बीच एक अन्य ट्वीट में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पूरी घटना पर खेद जताया है। उन्होंने लिखा, “शासकीय जीवन में किसी भी अधिकारी द्वारा इस तरह का आचरण स्वीकार्य नहीं है। मैं इस घटना से क्षुब्ध हूं। मैं युवक एवं उनके परिजनों से खेद व्यक्त करता हूं।”

बीते दिनों त्रिपुरा में भी ऐसा ही मामला सामने आया था। पश्चिमी त्रिपुरा के जिलाधिकारी शैलेश यादव ने एक मैरिज हॉल को तय समय से ज्यादा खोलने और तय संख्या से ज्यादा भीड़ होने पर नाराज हो गए थे और वहां मौजूद लोगों से बदसलूकी की थी। यह वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था, जिसके बाद उन्हें पद से हटा दिया गया था।

Related Articles

Back to top button
E-Paper