छतीसगढ़ : बीजेपी नेता के बेटे पर लटकी क़ानूनी तलवार, रमन सिंह के बेटे पर केस दर्ज

एक ओर जहां उत्तर प्रदेश के वरिष्ठ भाजपा नेता व केन्द्रीय गृहराज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी के बेटे को लखीमपुर हिंसा के मामले में कल पुलिस ने तलब करने के बाद अरेस्ट कर लिया है तो वहीं दूसरी ओर छतीसगढ़ में पूर्व सीएम रमन सिंह के बेटे पर पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है. संभव है वे भी जल्द ही सलाखों के पीछे होंगे. छतीसगढ़ के शहर कवर्धा में दो पक्षों में विवाद हो गया था जो कि थमने का नाम नहीं ले रहा है. पुलिस ने बीजेपी नेता रमन सिंह के बेटे अभिषेक सिंह पर सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुँचाने के सम्बन्ध में मामला दर्ज़ किया है.

बीजेपी नेता

ये लोग भी हैं नामज़द

रमन सिंह के बेटे के साथ-साथ छतीसगढ़ बीजेपी के अन्य नेताओ पर भी पुलिस ने मामला दर्ज किया है. इनमे मुख्य तौर पर राजनांद गांव के सांसद संतोष पाण्डेय, पूर्व विधायक आशिक साहू, बीजेपी प्रदेश मंत्री विजय शर्मा, विश्व हिन्दू परिषद के नन्द लाल चंद्रकार, बीजेपी युवा मोर्चा प्रदेश उपाध्यक्ष कैलाश चन्द्रवंशी, युवा मोर्चा के अध्यक्ष पीयूष ठाकुर, जिला बीजेपी अध्यक्ष अनिल ठाकुर जैसे लोग भी शामिल हैं.

जारी हैं पांच दिनों से कर्फ्यू

कवर्धा में दो पक्षों की आपसी भिडंत के चलते पूरा शहर कर्फ्यू का कहर झेल रहा है. पुलिस के मुताबिक, मामला इतना संगीन हो गया था कि मजबूरन उन्हें कर्फ्यू के ऑर्डर्स जारी करने पड़े. लगातार पांच दिनों से शहर कवर्धा में कर्फ्यू लगा हुआ है, लेकिन स्थिति अभी भी सामान्य नहीं हो पाई है. पुलिस ने मीडिया से बात करते हुए जानकारी दी कि अभी तक हम स्थिति पर अपनी नज़र बनाये हुए हैं. इस मामले में अब तक करीब 7 FIR दर्ज कि जा चुकी हैं. इन FIR में करीब 93 लोगों पर मुकदमा दर्ज़ किया गया है. इन्हीं में बीजेपी नेता रमन सिंह का बेटा अभिषेक सिंह भी नामज़द है.

भाजपा सांसद साक्षी महाराज का बड़ा बयान, भाजपा नहीं है कोई लिमिटेड कंपनी

नहीं हुई कोई गिरफ्तारी

पुलिस ने इस कवर्धा मामले में कार्यवाही करते हुए केस तो दर्ज़ कर लिया है लेकिन अभी तक किसी भी नामजद की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है. पुलिस इस पर सफाई देते हुए साक्ष्य जुटाने का हवाला दे रही है. बात करें बड़े बीजेपी कद्दावरों कि तो उनमे सब अभी तक अपनी जगहों पर मौजूद हैं और अपने रोजमर्रा के क्रियाकलापों से शहर कवर्धा की हालत को और ख़राब करने कि कोशिश में जुटे हुए हैं. हालांकि, पुलिस ने बहुत सारा आपत्तिजनक सामान जैसे शीशी व पत्थर की बोरियां आदि को जब्त कर लिया है. उन्हें ये अंदेशा है कि ये आपतिजनक सामान पुरे शहर में अशांति फ़ैलाने के तौर पर इस्तेमाल हो सकता था.

Related Articles

Back to top button
E-Paper