कोलकाता : बंगाल में 8 चरणों में चुनाव पर भड़कीं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, दिया ये बड़ा बयान

बंगाल

पंश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव तारीखों का ऐलान हो गया है। जहां 294 सीटों वाली विधानसभा के लिए इस बार आठ चरणों में चुनाव होने हैं। ऐलान के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी बंगाल में 8 चरणों में चुनाव पर भड़क गई हैं। ममता बनर्जी ने कहा कि उन्हें संदेह है कि तारीखों की घोषणा बीजेपी के चुनाव प्रचार अभियान के बेहतर प्रबंधन के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह के सुझावों के अनुसार की गई है।

अयोध्या में एयरपोर्ट निर्माण को केन्द्र ने दिए 250 करोड़, सीएम योगी ने जताया आभार

उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग का पूरा सम्मान करते हुए मैं यह कहना चाहती हूं कि इस पर सवाल खड़े किये जा रहे हैं कि बंगाल में कई चरणों में चुनाव क्यों होंगे, जबकि अन्य राज्यों में एक चरण में मतदान होगा। यदि चुनाव आयोग लोगों को न्याय प्रदान नहीं करता तो लोग, कहां जाएंगे।’’ बनर्जी ने कहा कि इन सभी चालों के बावजूद, वह चुनाव जीतेंगी।

उन्होंने कहा कि मुझे अपने सूत्रों से जानकारी मिली है कि चुनाव की तारीखें उसी अनुरूप हैं, जिस तरह से बीजेपी चाहती थी। क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह के सुझावों के अनुसार तारीखों की घोषणा की गई है? प्रधानमंत्री और गृह मंत्री राज्य के चुनाव के लिए अपनी शक्ति का दुरुपयोग नहीं कर सकते हैं।’’

बनर्जी ने अपनी पार्टी तृणमूल कांग्रेस के चुनाव जीतने के बारे में विश्वास व्यक्त करते हुए कहा कि वह राज्य की बेटी हैं और बंगाल को बीजेपी से बेहतर जानती हैं। बता दें कि पश्चिम बंगाल में 8 चरणों में चुनाव होंगे। बंगाल में 27 मार्च को पहले चरण, 1 अप्रैल को दूसरे चरण का, 6 अप्रैल को तीसरे चरण, 10 अप्रैल को चौथे चरण, 17 अप्रैल को पांचवे चरण की वोटिंग होगी। छठे चरण की वोटिंग 22 अप्रैल को, सातवें चरण की वोटिंग 26 अप्रैल को और आखिरी यानी आठवें चरण की वोटिंग 29 अप्रैल को होगी।

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने बताया कि बंगाल में प्रति विधानसभा खर्च की लिमिट 30.8 लाख रुपए होगी। पश्चिम बंगाल में इस बार 101916 पोलिंग स्टेशन होंगे जो पिछले चुनाव के मुकाबले 35 प्रतिशत ज्यादा हैं। नाव आयोग ने बताया कि पश्चिम बंगाल में एक लाख से ज्यादा मतदान केंद्रों पर वोट डाले जाएंगे. कोरोना को देखते हुए सभी राज्यों में मतदान केंद्र बढ़ाए गए हैं। इसके अलावा मतदान का समय भी एक घंटा बढ़ाया गया है। कोरोना को देखते हुए सभी चुनाव अधिकारियों का टीकाकरण किया जाएगा।

Related Articles

Back to top button
E-Paper