दुनिया के दो-तिहाई कोविड टीके चीन, अमेरिका और भारत को मिले हैं: डब्ल्यूएचओ

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने दुनिया भर में टीकों के वितरण का सवाल उठाया है। एक वरिष्ठ सलाहकार ने कहा कि अब तक दुनिया भर में वितरित हुए कोविड-19 के दो अरब टीकों में से करीब 60 फीसदी टीके महज तीन देशों चीन, अमेरिका और भारत को मिले हैं। शुक्रवार को यह जानकारी डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक टेड्रोस गेब्रेयेसस के वरिष्ठ सलाहकार ब्रुस एलीवर्ड ने दी।

ब्रुस एलीवर्ड ने कहा, ‘इस हफ्ते हमें दो अरब से अधिक टीके मिलेंगे,हम टीकों की संख्या और नए कोविड-19 रोधी टीकों के लिहाज से उल्लेखनीय दो अरब टीकों का आंकड़ा पार कर लेंगे। इन्हें 212 से अधिक देशों में वितरित किया गया है।’ उन्होंने कहा, ‘अगर हम दो अरब टीकों की तरफ देखें तो 75 प्रतिशत से अधिक खुराक महज 10 देशों को मिली है। यहां तक कि 60 फीसदी टीके तीन देशों चीन, अमेरिका तथा भारत को मिले हैं।’

एलीवर्ड ने कहा कि कोवैक्स ने कोविड-19 रोधी टीके 127 देशों में वितरित करने और कई देशों में टीकाकरण अभियान शुरू करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। उन्होंने कहा कि दो अरब टीकों में से सिर्फ 0.5 प्रतिशत टीके कम आय वाले देशों को गए जो दुनिया की आबादी का 10 प्रतिशत हैं।

एलीवर्ड ने कहा, ‘टीकों की आपूर्ति बाधित हो रही है। भारत व अन्य देशों में दिक्कतों के कारण बाधाएं हो रही है और इस खाई को भरने में मुश्किल हो रही है।’ उन्होंने कहा, ‘हमें उम्मीद है कि सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया कम से कम चौथी तिमाही में फिर से टीकों की आपूर्ति शुरू करें।’

दुनिया का सबसे बड़ा टीका निर्माता एसआईआई कोवैक्स को एस्ट्राजेनेका टीकों की आपूर्ति करने वाला अहम संस्थान है। भारत में कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के कारण कोवैक्स को टीकों की आपूर्ति बाधित हो गयी है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper